बिलासपुर। खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 के लिए समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए जिले में व्यापक तैयारी की गई हैं। जिले में एक लाख 17 हजार 209 किसानों ने धान विक्रय के लिए अपना पंजीयन कराया है। इसके एक लाख 30 हजार 498 हेक्टेयर पंजीकृत रकबे के धान की खरीदी की जाएगी। किसान पंजीयन एवं रकबे में गत वर्ष के मुकाबले 3.71 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

जिला खाद्य नियंत्रक बिलासपुर ने बताया कि जिले में 114 सेवा सहकारी समितियों के अंतर्गत 125 उपार्जन केन्द्रों में धान की खरीदी की जाएगी। उपार्जन केंद्र स्तर पर भौतिक व्यवस्था, बारदानों की व्यवस्था तथा संवेदनशील उपार्जन केन्द्रों में सहकारिता एवं खाद्य विभाग के अधिकारियों की नियुक्ति और उपार्जन केन्द्र वार जिला स्तरीय नोडल अधिकारियों एवं ग्रामीण कृषि विभागों के अधिकारियों की ड्यूटी लगाकर प्रशिक्षण दिया गया है। खरीदी के संबंध में किसी प्रकार के शिकायत के निवारण के लिए जिला स्तर पर शिकायत निवारण प्रकोष्ठ/नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है।

जिले में विपणन वर्ष 2021-2022 में चार लाख 88 हजार 602 मेट्रिक टन धान उपार्जन का अनुमान है। इसके अनुसार 24 हजार 430 गठान बारदाने की आवश्यकता को देखते हुए तैयारी की जा रही है। वर्तमान में नौ हजार 314 गठान बारदाना उपलब्ध है। इसे खरीदी केन्द्र में पहुंचा दिया गया है।

जिला स्तर पर धान खरीदी की सुचारू व्यवस्था के लिए 101 नोडल अधिकारियो की नियुक्ति की गई है। साथ ही सभी उपार्जन केन्द्रों में निगरानी समिति गठित की गई है। अन्तर्राजीय धान के अवैध परिवहन पर निगरानी रखे जाने के लिए राजस्व, सहकारिता, खाद्य विभाग के कर्मचारियों का दल गठित किया गया है। इनके माध्यम से अवैध परिवहन, कोचियों, बिचैलियो पर नजर रखी जा रही है। जिले के 534 मंडी अनुज्ञप्तिधारियों का सतत निरीक्षण कार्य जारी है।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local