बिलासपुर। डेंगू को लेकर जिले में अलर्ट चल रहा है। स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम की टीम डेंगू नियंत्रण पर लगातार काम कर रही है। वहीं अब नियंत्रण को लेकर एक दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। शहर के अस्थायी डबरों में डालने के लिए गम्बूजिया मछली नहीं मिल रही है। जबकि इन अस्थायी डबरों में अब भी मच्छरों के लार्वा सक्रिय हैं।

गम्बूजिया मछली की खास बात यह है कि वह डेंगू पैदा करने वाले लार्वा का खा लेती है। इससे डेंगू के फैलाव को रोका जा सकता है। इन बातों को ध्यान में रखते हुए मलेरिया विभाग ने रायपुर स्थित मुख्य शासकीय हेचरी से गम्बूजिया मछली की डिमांड भेजी है। साथ ही इन्हें खरीदने के लिए राशि भी पटा दी है। लेकिन मुख्य हेचरी में मग्बूजिया मछली की कमी चल रही है।

दरअसल रायपुर, दुर्ग, राजनांदगांव जैसे जिले से पहले ही डिमांड मिल चुकी है। ऐसे में उन्हें पहले सप्लाई की जा रही है। जबकि जिले से 15 दिनों से डिमांड की जा रही है। मछली नहीं मिलने से शहर के अस्थाई डबरों में लार्वा सक्रिय हो रहे हैं। हालाकि एंटी लार्वा का छिड़काव किया जा रहा है। लेकिन सभी डबरों में लार्वा का छिड़काव करना मुमकिन नहीं है।

ऐसे में लार्वा को पूरी तरह से खत्म नहीं किया जा रहा है। इसके लिए गम्बूजिया मछली की आवश्यकता है। हालांकि रायपुर हेचरी से जानकारी दी गई है कि एक सप्ताह में बिलासपुर मलेरिया विभाग को मछली दे दी जाएगी। इसी के बाद ही डबरों में गम्बूजिया मछली डालकर डेंगू नियंत्रण को तेज किया जाएगा।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local