बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के प्रभारी जीएम गजानन माल्या ने रविवार को जोनल स्टेशन का निरीक्षण किया। साफ- सफाई से लेकर यात्रियों को मिलने वाली सुविधाओं की बारीकी से जांच करते हुए एक स्टाल पहुंचे। यहां रेलनीर बोतल को हाथ में लिया। सबसे पहले इक्सपायरी और रेट देखा। इसके बाद बोतल को उल्टा किया। वह यह परखना चाहते थे कि रेलनीर बोतल ओरिजनल है या डुप्लीकेट। डुप्लीकेज होने पर पानी लिकेज होने लगता है।

जीएम माल्या शाम करीब छह बजे स्टेशन पहुंचे। उनके साथ डीआरएम आर. राजगोपाल, सचिव हिमांशु जैन व एडीआरएम सौरभ बंदोपाध्याय के अलावा अन्य विभाग प्रमुख मौजूद थे। उन्होंने गेट क्रमांक दो से स्टेशन में प्रवेश किया। इससे पहले गेट के बाहर बनी सेल्फी पाइंट का अवलोकन किया। इसकी तारीफ भी की। गेट क्रमांक एक के पास निर्माणाधीन फुटओवर ब्रिज को ड्राइंग स्केच से बताया गया। साथ ही इसके निर्माण की अवधि और यहां यात्रियों को मिलने वाली लिफ्ट व रैंप की सुविधा की जानकारी दी गई। निर्माणाधीन ब्रिज का जायजा लेने के बाद प्लेटफार्म एक पर संचालित जनआहर पहुंचे। इसका संचालन आइआरसीटीसी द्वारा किया जाता है। इसलिए निरीक्षण के दौरान एरिया मैनेजर राजेंद्र बोरबन भी मौजूद थे। उन्होंने बताया कि जनआहार को सेंट्रल किचन का स्वरूप दिया जा रहा है। वर्तमान में दाल- चावल से लेकर सब्जी मशीन से बनाई जाती है। उन्होंने मशीनों के काम करने की विधि को देखा। इसके अलावा यहां कैमरे से होने वाली निगरानी के बारे में बताया गया। जिसे उन्होंने बेहतर कदम बताया। उस समय कुछ यात्री भोजन कर रहे थे। जीएम उनके नजदीक पहुंचे और एक यात्री से खाने की गुणवत्ता की जानकारी ली। साथ ही रेट से संतुष्ट है या नहीं इसके बारे में पूछा। यात्री ने संतुष्टि जताई। जनआहार के ठीक बाजू में कमसम फूड प्लाजा है। यहां भी व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इसके बाद प्रथम श्रेणी प्रतिक्षालय का निरीक्षण किया। उपलब्ध सुविधाओं के अलावा शौचालय सफाई निरीक्षण के प्रमुख बिंदु थे। इसके बाद न्यू क्लासिक फूड सेंटर पहुंचे। यहीं उन्होंने रेलनीर बोतल मांगकर जांच की। फिर रिटायरिंग रूम, बाल सहायता केंद्र का जायजा लिया। साथ ही वहां के कर्मचारियों की व्यवस्था से अवगत हुए। निरीक्षण की इसी कड़ी में जीएम माल्या ने हावड़ा एंड के फुटओवरब्रिज को देखा और स्टेशन के दूसरे छोर तक विस्तारित होने वाले ब्रिज का प्लान ड्राइंग के साथ अवलोकन किया। निरीक्षण के बाद उन्होंने पत्रकारों से चर्चा भी की। उन्होंने कहा कि ज्यादा माल लदान करने के लिए अधोसंरचना विकास जरूरी है। इस पर पूरा फोकस है।

सफाई देख कहा वेरी गुड

निरीक्षण के दौरान जीएम जोनल स्टेशन की साफ- सफाई से प्रभावित हुए। उन्हें जांच के दौरान स्टाल या प्लेटफार्म में एक भी जगह गंदगी नजर नहीं आई। स्टाल में उन सभी मापदंडों का पालन हो रहा था, जो निर्धारित किए गए हैं। उन्होंने सफाई को इसी तरह बरकरार रखने के लिए कहा।

निरीक्षण से पहले अफसरों की बैठक

जोनल स्टेशन निरीक्षण से पहले जीएम माल्या ने मंडल रेल प्रबंधक सभाकक्ष में डीआरएम आर राजगोपाल, एडीआरएम सौरभ बंदोपाध्याय एवं शाखाधिकारियों की बैठक ली। इस अवसर पर जीएम के सचिव हिमांशु जैन भी उपस्थित थे। पावर प्रजेंटेशन के माध्यम से रेल मंडल में किए जा रहे कार्यों की प्रगति एवं योजनाओं की विस्तार से जानकारियां दी गईं। जिसकी जीएम ने समीक्षा की और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने संरक्षा, सुरक्षा एवं यात्री सुविधा से संबंधित कार्यों को प्राथमिकता के साथ पूरा करने के लिए कहा।