बिलासपुर (निप्र)। राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद(एनसीटीई) ने बिलासपुर विश्वविद्यालय से संबद्ध सभी 38 बीएड कॉलेजों को जोरदार झटका दिया है। कॉलेजों से 21 दिनों में परिनियम 28 के तहत पिछले पांच साल में शैक्षणिक स्टाफ की भर्ती का रिकार्ड मांगा गया है। इसआदेश के बाद कॉलेजों में हडकंप मच गया है। इसकी वजह है कि कई ने भर्ती ही नहीं की तो कुछ ने फर्जी नाम दिए हैं। ऐसे में बुधवार को ही ऐसे एक दर्जन से अधिक कॉलेजों ने विश्वविद्यालय को भर्ती के लिए आवेदन दिया है।

बीएड कॉलेजों की मनमानी पर नकेल कसने राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) ने इस बार कठोर कदम उठाया है। इससे ना केवल फर्जी भर्ती से पर्दा उठेगा बल्कि बिना अनुभव वाले प्राध्यापकों-कर्मचारियों के सहारे चलने वाले कॉलेजों का नाम भी सामने आएगा। राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद ने सभी कॉलेजों को नोटिस जारी किया है। इसमें सत्र 2008-09 से लेकर 2014-15 में नियुक्त शैक्षणिक स्टाफ की विश्वविद्यालय द्वारा अनुमोदित सूची प्रस्तुत करने को कहा गया है। इसके लिए 21 दिनों का समय दिया गया है। साथ ही कहा गया है कि समय पर जानकारी नहीं देने वाले कॉलेजों पर कार्रवाई होगी। इससे बीएड कॉलेजों में हड़कंप मच गया है। ऐसे में कॉलेजों के प्राचार्य और चेयरमैन अब बिलासपुर विश्वविद्यालय के चक्कर करे हैं। बुधवार को ही ऐसे एक दर्जन से अधिक कालेजों ने भर्ती के लिए विश्वविद्यालय में आवेदन दिया है।

क्या है परिनियम 28 के तहत भर्ती

शासन के नियमानुसार सभी प्राइवेट और अनुदान प्राप्त कॉलेजों को प्रतिवर्ष परिनियम 28 के अंतर्गत शैक्षणिक व गैर शैक्षणिक पदों में भर्ती करनी होती है। इसके लिए संबंधित विश्वविद्यालय से अनुमोदित कराना अनिवार्य है। इसका उद्देश्य यह है कि कॉलेजों में शिक्षा की गुणवत्ता और विकास में किसी तरह का व्यवधान उत्पन्न ना हो। इसके बाद भी कई कॉलेजों ने भर्ती ही नहीं की है तो कुछ फर्जी नाम के साहरे काम चला रहे हैं।

बीएड के लिए क्या है व्यवस्था

एनसीटीई ने बीएड कॉलेजों में भर्ती के लिए कुछ मापदंड तय किए हैं। इसके अनुसार आठ शैक्षणिक पदों में भर्ती करनी होती है। इसमें प्राचार्य, लाइब्रेरियन, संगीत शिक्षक व खेल शिक्षक की भर्ती अनिवार्य है। साथ ही इंफ्रास्ट्रक्चर एवं भवन निर्माण को लेकर भी मापदंड तय हैं। इसके बाद भी कॉलेजों में इसका पालन नहीं कर रहा है।

बीएड कॉलेजों के संबंध में एनसीटीई ने आदेश जारी किया है। इसमें 21 दिनों के भीतर परिनियम 28 के तहत हुई भर्ती की रिपोर्ट मांगी गई है। ऐसा नहीं करने वाले कॉलेज अब भर्ती के लिए आवेदन दे रहे हैं।

डॉ.अरुण सिंह

कुलसचिव, बिलासपुर विश्वविद्यालय

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना