बिलासपुर। Health Tip: सहजन यानी ड्रम स्टिक ऐसी सब्जी है जिसका सबसे ज्यादा इस्तेमाल सांभर में किया जाता है। लेकिन, आपको बता दें कि अगर आपको सहजन के सारे पोषक तत्वों के फायदे चाहिए, तो सहजन की सब्जी जरूर खानी चाहिए। सहजन विटामिन ए, सी, बी 1 (थियामिन), बी 2 (राइबोफ्लेविन), बी 3 (नियासिन), बी 6 और फोलेट से भरपूर होती हैं। वे मैग्नीशियम, आयरन, कैल्शियम, फास्फोरस और जिंक में भी समृद्ध हैं। इसलिए चिकित्सक इसका सेवन करने की सलाह देते हैं।

सहजन का जूस

पौष्टिकता के मामले में गाजर, संतरे और यहां तक कि दूध को पीछे छोड़ते हुए पोषण से भरपूर मानी जाती हैं। इसकी पत्तियों को कई तरीकों से डाइट में शामिल किया जा सकता है। सहजन की पत्तियों का जूस बनाना या सब्जी बनाकर खाना भी बहुत पौष्टिक माना जाता है।

अमीनो एसिड से भरपूर

सहजन अमीनो एसिड, प्रोटीन भरी होती हैं। 18 प्रकार के अमीनो एसिड उनमें पाए जाते हैं जो स्वास्थ्य को कई तरीकों से हेल्दी रखने में मदद करते हैं।

सूजन से लड़ने में मददगार

सहजन में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। सूजन कई बीमारियों जैसे कैंसर, गठिया और कई आटोइम्युन बीमारियों का मूल कारण है। जब हम किसी चोट या संक्रमण से पीड़ित होते हैं, तो शरीर में सूजन बढ़ जाती है। सहजन का सेवन कर इससे राहत पाई जा सकती है।

एंटीआक्सीडेंट की खान

सहजन में एंटी-आक्सीडेटिव गुण होते हैं और यह पर्यावरण में मौजूद मुक्त कणों के हानिकारक प्रभावों से बचाते हैं। मुक्त कण के कारण होने वाली क्षति टाइप 2 डायबिटीज, हृदय की समस्याओं और अल्जाइमर जैसी कई पुरानी बीमारियों के लिए जिम्मेदार हंै। इसमें विटामिन सी और बीटा-कैरोटीन से भरपूर होती हैं, जो मुक्त कणों के खिलाफ काम करती हैं।

ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करने में फायदेमंद

हाई ब्लड शुगर लेवल व्यक्तियों में डायबिटीज के विकास को जन्म देता है। डायबिटीज की समस्याओं और शरीर में अंग क्षति का कारण बन सकता है। इससे बचने के लिए ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रण में रखना अच्छा होता है। सहजन इसका बेहतर विकल्प है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close