बिलासपुर। Health Tips: अक्सर व्रत में खाए जाने वाले आहार इतने वसायुक्त या तैलीय होते हैं कि उनके सेवन से आपका वजन कम होने के बजाय और बढ़ जाता है। वहीं कई बार उपवास के दौरान खाने-पीने की अनियमितता की वजह से कमजोरी, वात आदि समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है। आइए जानते हैं कि उपवास के दौरान हमें क्या-क्या सावधानियां रखनी चाहिए।

ध्यान रखें कि आपके आहार में न तो बहुत अधिक शक्कर हो और न ही अधिक नमक। दिन में ढाई से तीन घंटे के अंतराल पर कुछ हल्का जरूर खाएं। व्रत के दौरान सुबह के समय हम जो डाइट लेते हैं, उसका बहुत महत्व है। इससे मिलने वाली ऊर्जा से ही हमें सारा दिन निकालना पड़ता है। गर्म पानी में नींबू डालकर पीने से दिन की शुरुआत करें। सुबह के समय फलाहार के लिए फल, फलों के जूस, पनीर, ड्राइ फ्रूट्स आदि को चुनें।

यदि कमजोरी लगे तो

बहुत अधिक थकान या बेचैनी होने लगे तो तुरंत नारियल पानी या नींबू का पानी लें। इसके अलावा बेल का शरबत भी तुरंत आराम पहुंचाता है। अक्सर व्रत के दौरान खाली पेट रहने से उल्टियां, सिरदर्द या घबराहट जैसी समस्याएं हो जाती हैं। ऐसे में तुरंत पानी, शक्कर और नमक का घोल बनाकर पिएं।

पानी की कमी से बचें

वैसे तो पानी हमेशा अधिक पीना चाहिए, मगर व्रत के दौरान खास ध्यान रखें। पानी अधिक पीने से डीहाइड्रेशन से बचेंगे। यह आपके शरीर के सारे टाक्सिन्स को दूर भी करेगा।

इन बातों का भी रखें ध्यान

कई लोग व्रत के दौरान चौबीस घंटे में एक ही बार भोजन करते हैं। पूरे दिन भूखा रहने और रात में हेवी खाने से बेहोशी आना, चक्कर आना, सिरदर्द होना, कमजोरी आदि समस्याएं शुरू हो जाती हैं। इससे बचने के लिए पूरे दिन निश्चित अंतराल पर फल, सलाद, दही, श्रीखंड, फ्रूट चाट, खट्टे आलू लेने चाहिए। ज्यादातर लोगों को उपवास में कब्ज की शिकायत हो जाती है। इसलिए व्रत करने से पहले त्रिफला, आंवला, पालक का सूप या करेले के रस इत्यादि का सेवन करें। इससे पेट साफ रहता है।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close