बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

गृह एवं जिले के प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि हम लोग अच्छा काम करके लोगों के बीच प्रचार नहीं कर पाते और भाजपाई दुष्प्रचार कर कांग्रेस के खिलाफ माहौल बना लेते हैं। बीते 15 वर्षों में भाजपा जो काम नहीं कर पाई वह काम कांग्रेस की सरकार ने छह महीने में कर दिखाया है।

जिले के प्रभारी मंत्री साहू छत्तीसगढ़ भवन में पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सीएम बघेल छत्तीसगढ़ की ढाई करोड़ जनता की हितों को सामने रखकर काम कर रहे हैं। मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के तत्काल बाद किसानों की कर्जमाफी की घोषणा । 2500 रुपये प्रति क्विंटल में समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी। किसानों को बोनस । ये सब ऐसे काम हैं जो किसानों को आर्थिक सम्पन्नता की ओर ले जाता है। छत्तीसगढ़ बिजली के मामले में सरप्लस होने और बिजली बिल हॉफ की सरकार की घोषणा के बाद पावर कट की स्थिति क्यों बन गई । क्या सरकार अपनी घोषणा में फंसती दिखाई दे रही है। प्रभारी मंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह को घेरते हुए कहा कि बीते 15 वर्षों तक राज्य में भाजपा की सरकार काबिज थी । बिजली जैसा महत्वपूर्ण विभाग सीएम डॉ. सिंह अपने पास रखे हुए थे। केबल से लेकर ट्रांसफार्मर सभी में भारी गड़बड़ी की शिकायत मिल रही है। बिजली सरप्लस तो है पर बिजली आपूर्ति के साधन को कबाड़ कर दिया है। उन्होंने साफ कहा कि बिजली आपूर्ति के उपकरणों की खरीदी में भारी गड़बड़ी की गई है। नगर निगम सीमा वृद्घि को लेकर भाजपाइयों के विरोध के सवाल पर कहा कि 15 वर्षों में भाजपा ने क्या किया किसी से छिपा हुआ नहीं है। सड़क बनाओ गड्ढा खोदो और फिर उसे सड़क बनाओ। शहर की सड़कों को गड्ढों में तब्दील करने वाले भाजपा सरकार के दिग्गजों को विकास से तब कोई संबंध ही नहीं था । विरोध करने वाले लोग विकास विरोधी हैं। सीमा बढ़ने के साथ विकास के कार्य भी होंगे। इसलिए निगम सीमा का विस्तार होना चाहिए ।

छह महीने दिया समझने के लिए,अब लापरवाही की तो खैर नहीं

मंत्री साहू ने कहा कि विभिन्न विभागों के अधिकारियों को सीएम की मंशा के अनुरूप कामकाज को समझने के लिए छह महीने का समय दिया था। अब मोहलत खत्म हो गई है। इसके बाद भी अगर कामकाज में लापरवाही और गफलत मिलती है तो संबंधितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी । योजनाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी ।

भविष्य किसने देखा,मैं तो वर्तमान में जीता हूं

जिले के प्रभारी मंत्री ने कहा कि मैं तो वर्तमान में जीता हूं और इसी आधार पर अपने काम को अंजाम तक पहुंचाने की कोशिश करता हूं। भविष्य किसने देखा है। वर्तमान में कामकाज अच्छा रहेगा तभी तो भविष्य की बातें होगी । इसलिए वर्तमान में जहां हैं वहां तो अच्छा काम हो । यही मेरी मंशा रहती है।

प्रशासनिक व्यवस्था की खोली पोल

जेल में सुरक्षा के सवाल पर कहा कि चाकचौबंद व्यवस्था के बाद आमतौर पर यह शिकायत मिलती है कि नशे का सामान जेल के भीतर पहुंच रहा है। जेल में तो कड़ी सुरक्षा रहती है। इसलिए यह संभव नहीं है। जब बारिकी से जांच कराई गई तब पता चला कि कैदियों को पेशी में ले जाने वाले पुलिस के जवानों की मिलीभगत के चलते ऐसा हो रहा है। पेश में ले जाने के दौरान बंदियों के परिजन मुलाकात करते हैं और यहीं से शुरू होता है जेल के भीतर नशे का सामान ले जाने का काम ।

नक्सली मुठभेड़ में भाजपा के जमाने में भरमार बंदूक जब्त किया था

गृह मंत्री साहू ने नक्सल मुठभेड़ और मारे जाने वाले नक्सलियों से जब्त सामानों को लेकर पूर्ववर्ती भाजपा सरकार को आड़ेहाथों लेते हुए कहा कि तब सरेंडर या फिर मुठभेड़ के बाद पुलिस भरमार बंदूक जब्त करती थी। आज परिस्थिति एकदम विपरीत है। मुठभेड़ में नक्सलियों को मारे जाने के बाद अत्याधुनिक एके 47 जैसे हथियार की जब्ती होती है।