बिलासपुर।Bilaspur Crime News: सिरगिट्टी थाना क्षेत्र के कोरमी में शराब की जगह होम्योपैथी कफ सीरप पीने वाले नौ ग्रामीणों की अब तक मौत हो चुकी है। वहीं, पांच लोगों का अलग-अलग अस्पतालों में उपचार चल रहा है। दो ग्रामीणों की हालत गंभीर बताई जा रही है। घटना से पुलिस व स्वास्थ्य विभाग की नींद उड़ गई है। गांव में शिविर लगाकर मरीजों की तलाश की जा रही है।

कोरमी में रहने वाले कमलेश धुरी पिता बल्दूप्रसाद(32 वर्ष), अक्षय धुरी पिता पुन्नूलाल(21 वर्ष), राजेश धुरी पिता दशरथ(21 वर्ष), समारू धुरी पिता गजानंद(25 वर्ष), खेमचंद धुरी पिता रामलाल(40 वर्ष) व कैलाश धुरी पिता उमाशंकर (50 वर्ष) सहित अन्य ग्रामीणों को सर्दी-जुकाम व खासी की शिकायत थी। इस दौरान ग्रामीणों ने गांव के ही होम्योपैथिक डाक्टर को दिखाया। उन्हें कोरोना से संक्रमित होने की आशंका थी।

डाक्टर ने उन्हें ड्रोसेरा कफ सीरप दिया। इसे ग्रामीणों को गुनगुने पानी में मिलाकर पीना था। इस दौरान ग्रामीणों ने इसे नशे के रूप में बिना पानी मिलाए ही पीना शुरू कर दिया। बीमार ग्रामीणों की देखादेखी अन्य ग्रामीणों ने भी ड्रोसेरा सीरप खरीदकर पीना शुरू कर दिया। इधर, बुधवार को सीरप पीने वाले ग्रामीणों की तबीयत बिगड़ गई। उन्हें उल्टी होने लगी। इस दौरान ग्रामीण युवकों ने स्वजनों को दवा पीने की जानकारी दी। उल्टी होने के कारण परिवार वालों ने भी नजरअंदाज कर दिया।

इस बीच कमलेश और राजेश की मौत हो गई। लोगों को कोरोना से मौत की आशंका हुई। आनन-फानन में उनकी अंत्येष्टि भी कर दी। इधर, बुधवार दोपहर अक्षय और समारू की भी मौत हो गई। उन्हें भी कोरोना होने का संदेह हुआ और उनकी भी अंत्येष्टि कर दी गई। एक ही दिन में गांव में चार युवकों की मौत से हड़कंप मच गया। इसकी सूचना ग्रामीण ने सिरगिट्टी पुलिस की दी।

खबर मिलते ही बुधवार की देर शाम सिरगिट्टी थाना प्रभारी फैजूल शाह गांव पहुंचे। उन्होंने मृतक के परिवार वालों से इस संबंध में पूछताछ की। इसमें युवकों के कफ सीरप पीने की जानकारी मिली। पूछताछ में दो ग्रामीणों की तबीयत खराब होने की बात सामने आई। इस दौरान उन्होंने खेमचंद और कैलाश को इलाज के लिए सिम्स में भर्ती कराया। साथ ही सीरप पीने वाले अन्य ग्रामीणों की भी जानकारी जुटाई।

गुरुवार को उपचार के दौरान खेमचंद पिता रामलाल (40), कैलाश धुरी पिता उमाशंकर (50 वर्ष), दीपक धुरी पिता गंगाप्रसाद(25), रामदयाल पिता रामखिलावन(28) व गोवर्धन पिता उमाशंकर(26 वर्ष) की भी मौत हो गई। वहीं बुधवार रात कमलेश धुरी पिता बल्दूप्रसाद(32 वर्ष), अक्षय धुरी पिता पुन्नूलाल(21 वर्ष), राजेश धुरी पिता दशरथ(21 वर्ष), समारू धुरी पिता गजानंद(25 वर्ष) ने दम तोड़ दिया। वहीं, रितेश पिता रामकुमार(28 वर्ष), दीपक पिता प्रेमचंद(21 वर्ष), रामा धुरी पिता भूपेंद्र(55 वर्ष) को सिम्स में भर्ती किया गया है। प्रदीप पिता बलबीर(25 वर्ष) का उपचार यूनीटी अस्पताल में चल रहा है।

डाक्टर की भूमिका पर उठे सवाल, जांच में जुटी पुलिस

पुलिस इस मामले में ग्रामीणों को दवा देने वाले होम्योपैथी डाक्टर एसआर चक्रवर्ती की भूमिका की जांच कर रही है। पुलिस यह जानकारी जुटा रही है कि डाक्टर ने दवा कैसे व किन परिस्थितियों में दी। पूरे मामले में पुलिस की जांच डाक्टर की गतिविधियों पर है।

स्वास्थ्य विभाग ने लगाया कैंप

घटना की जानकारी मिलने पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी प्रमोद महाजन ने डाक्टरों की टीम को गांव में कैंप लगाने आदेश दिया है। डाक्टरों की टीम गांव में पहुंचकर बीमार लोगों की जानकारी लेकर उपचार कर रही है। गंभीर रूप से बीमारों को शहर के विभिन्न् अस्पतालों में उपचार के लिए भेजा गया है।

Posted By: sandeep.yadav

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags