बिलासपुर। Bilaspur News: क्षेत्र में मुरुम का अवैध उत्खनन खनिज विभाग के नाक के नीचे बदस्तूर जारी है। पहले तो गांव के अंदर में अवैध उत्खनन करते थे लेकिन अब अवैध उत्खनन करने के हौसले इस कदर बुलंद है कि मुख्यमार्ग किनारे के जगह को भी नहीं छोड़ रहे हैं।

मामला भरनी से पोड़ी पहुंच मार्ग, सकरी-कोटा मुख्यमार्ग में सड़क किनारे ही पोकलेन लगाकर बेतरतीब तरीके से मुरुम का अवैध उत्खनन किया जा रहा है जबकि स्थानीय ग्रामीणों द्वारा विरोध दर्ज कराने के बावजूद भी न इन्हें न ही इन्हें खनिज विभाग का ही डर है और न ही प्रशासन का ही भय है।

विगत तीन-चार दिनों से चोरभट्ठी-पोड़ी मोड़ पर भारी मात्रा में अवैध उत्खनन कर मुरुम की सप्लाई की जा रही है। वहीं यहा से निकलने वाले मुरुम को खनिज नाका से न ले जाकर पोड़ी-देवरी और हांफा के रास्ते पहुंचाया जा रहा है।

स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि मुरुम के लिए किए गए गड्ढे में पानी भरने के कारण दो मवेशियों की भी मौत हो चुकी है। इस तरह स्थानीय ग्रामीणों की आपत्ति एवं आक्रोश के बावजूद भी उत्खनन चल रहा है। इस संबंध में आक्रोशित ग्रामीणों ने बताया कि निश्चित ही इससे खनिज विभाग की भूमिका भी संदिग्ध है। अब ग्रामीण मामले में कलेक्टर से शिकायत की तैयारी कर रहे हैं।

चोरभट्ठी के जनप्रतिनिधि अनवर खान ने बताया विगत कई दिनों से मना करने के बावजूद भी पोकलेन लगाकर मुरुम का अवैध उत्खनन कराया जा रहा है। इनके हौसले इतने बुलंद है कि वे यहां तक कहते हैं कि खनिज विभाग से भी जाकर शिकायत कर दोगे तो कुछ नही होगा। इससे ग्रामीण आक्रोशित हैं।

इस संबंध में ग्रामीण संजय मिश्रा ने बताया कि उक्त उत्खनन में खनिज विभाग की संलिप्तता भी जग जाहिर है। कुछ लोग अवैध तरीके से उत्खनन कर रहे है। इसकी शिकायत कलेक्टर से कर कार्रवाई की मांग करेंगे।

अगर मुरुम का अवैध उत्खनन किया जा रहा है तो टीम भेजकर निश्चित ही कार्रवाई की जाएगी। ऐसे तत्वों को बख्शा नहीं जाएगा।

- दिनेश मिश्रा, जिला खनिज अधिकारी, बिलासपुर

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local