बिलासपुर। Illegal Mining: पोड़ी- उपरोड़ा के पसान क्षेत्र में नदी- नालों से अवैध रेत उत्खनन धड़ल्ले से किया जा रहा है। बिना अनुमति गौण खनिज के उत्खनन व परिवहन कर शासन- प्रशासन को राजस्व का नुकसान पहुंचाया जा रहा है। दूसरी ओर इसकी आवश्यकता की पूर्ति के लिए लोग अधिक मूल्य चुकाने विवश हो रहे हैं। रेत के इस अवैध कारोबार में लोग बेधड़क लगे हुए हैं और प्रशासन भी इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। इससे सरकार को राजस्व नुकसान के साथ ही घाटों को भी क्षति पहुंच रही है।

पसान के कुम्हारीशानी में सुखाड़ नदी से पिपरिया सीपतपारा के नाले, कर्री साड़ामार बम्हनी नदी, खोडरी धोबनी नाला के बीच रेत घाट से खुलेआम अवैध रेत उत्खनन कर परिवहन किया जा रहा है। रायल्टी की अधिक राशि का भय दिखाकर अवैध रेत ऊंचे दरों पर मकान निर्माण करने वालों को विक्रय किया जा रहा।

एक ओर जहां देश में कोरोना वायरस को लेकर भय का माहौल बना हुआ है, वहीं दूसरी ओर अवैध रेत उत्खनन करने वाले कारोबारियों के भय मुक्त हो गए हैं। नजदीक में रेत की अधिकृत आपूर्ति की सुविधा नहीं होने का अनुचित लाभ उठाया जा रहा है।

खनिज विभाग की उदासीनता आम लोगों की मुश्किलें बढ़ाने के साथ विभिन्न निर्माण कार्यों की गति को भी अवरुद्ध बना रही है। क्षेत्र के लोग लगातार रेत की उचित दर निर्धारित करने की मांग कर रहे पर इस दिशा में प्रशासन की ओर से अब तक उचित निर्णय नहीं लिया गया है।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस