बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना महामारी ने जून माह से जो रफ्तार पकड़ी थी, वही अब तक कम नहीं हो पा रहा है। शुक्रवार को जिले में 14 नए मरीजों की पहचान की गई है। सक्रिय मरीजों की संख्या 190 पार हो चुकी है। राहत यह है कि गंभीर होने के बाद भी मरीजों की रिवकरी हो जा रही है। कोरोना से मौत का सिलसिला थमा हुआ है।

राहत यह भी है कि जितने भी मरीज मिल रहे हैं, उनमें से आधे में तो कोरोना के लक्षण नहीं मिल रहे हैं। जिनमंे लक्षण मिल रहे हैं वे भी बिलकुल सामान्य चल रहे हैं। वहीं जिस रफ्तार से मरीज मिल रहे हैं, उससे ज्यादा मरीज ठीक भी हो रहे हैं। शुक्रवार को 18 मरीज ठीक हुए हैं। आकड़ों के मुताबिक कुछ मामलों को छोड़ दिया जाए तो अधिकतर मरीज 10 दिन के भीतर ठीक हो जा रहे हैं।

वैसे भी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कोरोना टीकाकरण की रफ्तार को देखते हुए संभावना जताई है कि यदि लोग गाइडलाइन का पालन करते हैं तो स्थिति बिगड़ेगी नहीं, स्वास्थ्य हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार है। इसके बाद भी लोगों को इस महामारी को पूरी तरह से खत्म करने के लिए जागरूक होना पड़ेगा।

इन क्षेत्रों में मिले मरीज

शहर अंतर्गत विनोबा नगर, डबरी पारा, तारबाहर, हेमूनगर, रेलवे परिक्षेत्र, तोरवा, गोंडपारा, कुदुदंड, मंगला, शांतिनगर, नेहरू नगर, उसलापुर, भारतीय नगर में ज्यादा संक्रमित की पहचान की गई है। इसी तरह ग्रामीण क्षेत्र अंतर्गत कोटा और तखतपुर में कुछ हद तक मामले बढ़े हैं।

400 सेंटर के माध्यम से 5,010 हुए टीकाकृत

जिले में 400 सेंटरों पर कोविड का टीका लगाया गया। शुक्रवार को दिनभर चले वैक्सीनेशन के बाद 5,010 लोगों ने वैक्सीन लगवाई। इसमें सतर्कता डोज लगवाने वालों की संख्या अधिक रही। शुक्रवार को 446 ने पहली डोज लगवाई। वहीं 906 को दूसरी डोज लगी है। 3,658 को सतर्कता डोज लगाई गई है। जिला टीकाकरण अधिकारी डा. मनोज सैमुअल ने जानकारी दी है कि जिनका टीकाकरण नहीं हुआ है, वे जल्द से जल्द टीका लगवाएं। वहीं 60 साल से ऊपर वालों को सतर्कता डोज लगवाने की हिदायत दी है।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close