बिलासपुर। International Yoga Day 2021: विश्व योग दिवस के अवसर पर अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.अरुण दिवाकर नाथ वाजपेयी ने अनोखे अंदाज में योगासन किया। कांच के टी टेबल पर उत्थित पद्मासन कर समाज को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया। कुलपति को इस आसन पर देखकर सभी ने दांतों तले उंगली दबा ली। इंटरनेट मीडिया पर भी योग को लेकर उनकी अनूठी कला की सफी प्रशंसा कर रहे हैं। शिक्षा जगत में भी जमकर तारीफ मिल रही है।

विश्व योग दिवस के अवसर पर कुलपति प्रो.वाजपेयी ने एक बार फिर अपने अनोखे अंदाज से लोगों का ध्यान आकर्षण किया। सुबह प्रशासनिक भवन के अपने कक्ष में रखे कांच के टी टेबल पर विभिन्न् योग आसन किया। हैरानी तब हुई जब उन्होंने उत्थित पद्मासन किया।

इसके बाद आनलाइन योग प्रशिक्षण में शामिल भी हुए। प्रो.वाजपेयी ने अपने संदेश में योग की महत्ता और ताकत के बारे में बताया। योग के माध्यम से शरीर को स्वस्थ रखने की जानकारी देने के साथ आयुर्वेद का महत्व बताया।

यौगिक क्रियाएं प्रासंगिक और पालनीय

कुलपति प्रो.वाजपेयी ने आभासी योग साप्ताहिक यज्ञ के चौथे दिन दिनचर्या के लिएयौगिक उपाय विषय पर अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में आसन, प्राणायाम, मुद्रा बंध, षटकर्म इत्यादि यौगिक क्रियाएं प्रासंगिक और पालनीय हैं।

इस अवसर पर मुख्य संचालक के रूप में कुलसचिव प्रो. सुधीर शर्मा, एनएसएस के समन्वयक डा.मनोज सिन्हा, विशिष्ट अनुदेशक नई दिल्ली राहुल आर्य, विभागाध्यक्ष डा.सौमित्र तिवारी, गौरव साहू, योग गुरु मोनिका पाठक, सत्यम तिवारी आदि उपस्थित थे। योग साप्ताहिक यज्ञ के माध्यम से लोगों को प्रतिदिन अपने दिनचर्चा में बदलाव करने विशेष क्रियाएं भी बताई गईं, जिन्हें अपनाकर लोग स्वस्थ रह सकते हैं।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local