बिलासपुर। बड़े दिनों बाद मंगलवार को जोनल स्टेशन में यात्रियों की भीड़ नजर आई। इस भीड़ में कोविड-19 के नियमों का उल्लंघन भी हो रहा था। खासकर अधिकांश यात्रियों ने मास्क नहीं लगाया था। ऐसी स्थिति में मुख्य टिकट निरीक्षक (सीटीआइ) ने टीम के साथ जांच और जागरूकता अभियान भी चलाया। इस दौरान यात्रियों को मास्क भी वितरण किए गए। उन्हें बताया गया कि बिना मास्क के संक्रमण का खतरा है।

कोरोना संक्रमण फैलने का सबसे ज्यादा खतरा रेलवे स्टेशन व ट्रेन में ही है। यह बेहद संवेदनशील क्षेत्र है। यही वजह है कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा यहां विशेष ध्यान दिया गया। मार्च से लेकर अब तक विभाग की एक टीम स्टेशन के गेट नंबर चार पर तैनात होकर बाहर से आने वाले यात्रियों की जांच कर रही है।

इसके साथ ही अब रेलवे में अभियान चलाकर उन यात्रियों की जांच कर रही है, जो बिना मास्क लगाए यात्रा करने के लिए पहुंच जा रहे हैं। जबकि संक्रमण से बचने के लिए अभी सबसे ज्यादा जरूरी मास्क लगाना ही है। 13 जनवरी से टीम लगातार बिना मास्क के यात्रियों पर जुर्माना कर रही है। मंगलवार को भी अभियान जारी रहा।

आज विशेष तौर पर जांच की गई। दरअसल मंगलावार को सप्ताह में एक दिन चलने वाली दुर्ग- जम्मूतवी ट्रेन रहती है। इस ट्रेन में सबसे ज्यादा यात्री श्रमिक वर्ग के होते हैं, जो कमाने खाने के लिए जाते हैं। प्लेटफार्म में ऐसे ही यात्री नजर आए। इनमें पुरुष व महिलाओं के साथ बड़ी संख्या में बच्चे भी थे। लेकिन इनमें से अधिकांश ने मास्क ही नहीं लगाया था। जांच के दौरान उन्हें समझाइश दी गई संक्रमण अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है। इसलिए उल्लंघन न करें। कई तो जुर्माना देने की स्थिति में नहीं थे। ऐसे यात्रियों को टीम ने मास्क उपलब्ध कराया। ताकि वह सुरक्षित रहें।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local