बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) की ओर से जेईई मेंस 2022 के दोनो चरणों (जून और जुलाई) का परिणाम जारी कर दिया है। शहर की लाडली पलक अग्रवाल ने एक बार फिर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया है। पीईटी के बाद अब जेईई मेंस में 99.87 पर्सेंटाइल के साथ छत्तीसगढ़ महिला वर्ग में प्रथम स्थान हासिल किया है। पलक अब एडवांस की तैयारी में जुट गई है।

जेईई मेंस में शानदार सफलता के बाद पलक बेहद खुश है। तोरवा पावर हाउस हेमू नगर निवासी शिवकुमार अग्रवाल की पुत्री पलक ने नईदुनिया से खास बातचीत में कहा कि इस सफलता में उनके गुरुजन और परिवार का पूरा साथ मिला, जिन्होंने मुझ पर भरोसा किया। पापा संकट मोचक की तरह हमेशा मेरे साथ खड़े रहे। एक बेटी को पढ़ाने के साथ उसे पूरी स्वतंत्रता दी। इसका परिणाम है कि मैं अपने पढ़ाई को लेकर स्वतंत्र रूप से अध्ययन कर सकी। प्रतिदिन पांच से छह घंटे घर में पढ़ना जारी रखा।

सेल्फ स्टडी पर पूरा ध्यान केंद्रित किया। पिछले वर्षों के प्रश्नपत्र और टेस्ट पेपर का अध्ययन किया। पढ़ाई के अलावा दूसरी सभी गतिविधियों से दूर रही। अध्यात्म और योग का सहारा लिया। दिमाग को शांत रखने मेडिटेशन भी करती रही। पलक ने कहा कि फिलहाल अब एडवंास की तैयारी कर रही हूं।

इसके बाद ही भविष्य निर्माण पर निर्णय लूंगी। अभी मेरा लक्ष्य एडवांस क्वालिफाय करना है। बता दें कि पलक ने भौतिकी, गणित और रसायन विषय में 300 के मुुकाबले 227 अंक अर्जित किए हैं।

पीईटी में भी रही थी नंबर वन

व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापम) की ओर से 22 मई को आयोजित प्री इंजीनियरिंग टेस्ट (पीईटी) की टाप-10 सूची में भी पलक ने प्रथम स्थान हासिल किया है। उन्होंने उस समय भी कहा था कि बड़ा लक्ष्य रखने का मुझे फायदा मिला है। पीईटी में श्ाानदार अंक अर्जित कर सभी को चौंका दिया था। भौतिकी में 48, रसायन शास्त्र में 40 व गणित में 38.54 अंक के साथ ओवरआल 126.542 अंक प्राप्त किए थे।

28 अगस्त को जेईई एडवांस

बता दें कि जेईई मेन 2022 पास करने वाले टाप 2.5 लाख स्टूडेंट्स जेईई एडवांस के लिए क्वालिफाई करते हैं। इसके लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। जेईई एडवांस का आयोजन 28 अगस्त को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) बांबे द्वारा किया जाएगा। मेंस में जिस भी अभ्यर्थी को नंबर मिला है वे दोनों सेशन के बेहतर नंबर को वेटेज दिया गया है। बेस्ट स्कोर के आधार पर ही जेईई मेंस की मेरिट लिस्ट तैयार और आल इंडिया रैंक जारी की गई है।

शहर के 100 से अधिक बच्चे

न्यायधानी में जेईई मेंस क्वालिफाई करने वाले बच्चों में 100 से अधिक हैं। कोचिंग संस्थानों की ओर से इन बच्चों की सूची भी जारी की जा रही है। बिलासपुर शहर से सबसे अधिक तक्षशिला इंस्टीट्यूट और प्रीमियर एकेडमी के बच्चे सफल हुए हैं। संचालकों की मानें तो ज्यादातर बच्चों ने 95 पर्सेंटाइल से अधिक अंक अर्जित किया है।

प्रयास के 17 विद्यार्थियों ने किया क्वालिफाई

राजीव गांधी बाल भविष्य योजना अंतर्गत नक्सल पीड़ित जिलों व आदिवासी जिलों के बच्चों के अध्यापन व कोचिंग के लिए संचालित प्रयास आवासीय विद्यालय बिलासपुर के 37 में से 17 विद्यार्थियों ने जेईई मेंस परीक्षा में सफल होकर जेईई एडवांस परीक्षा के लिए क्वालीफाई किया है।

राज्य के नौ प्रयास विद्यालयों के 360 विद्यार्थियों में 193 ने जेईई एडवांस के लिए क्वालीफाई किया है। बिलासपुर के सफल विद्यार्थियों को सहायक आयुक्त आदिवासी विकास सीएल जायसवाल, संस्था के प्राचार्य डा. जीए अश्विनी कुमार, मैट्रिक्स अकादमी के संचालक डा.अजय श्रीवास्तव ने कहा कि यह परिणाम बच्चों का भविष्य तय करेगा।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close