बिलासपुर। कलार समाज में अब वैवाहिक, मांगलिक एवं अन्य कार्यक्रमों में कागज या प्लास्टिक के आमंत्रण कार्ड नहीं बांटेगा। पर्यावरण संरक्षण की दिशा में डडसेना कलार समाज विकास समिति बिलासपुर ने महत्वपूर्ण निर्णय लेते हुए अब डिजीटल आमंत्रण कार्ड को बढ़ावा देगा। जिससे की जंगल, ईंधन और समय की बचत होगी। सड़क दुर्घटना में भी कमी आएगी।

चांटीडीह स्थित अध्यक्ष अशोक जायसवाल ने निवास पर कार्यकारिणी की अहम बैठक हुई। जिसमें सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि आठ जनवरी को कलार समाज का युवक युवती परिचय एवं सामाजिक सम्मेलन व परिचर्चा होगी। जिसमें प्रदेशभर से समाज के लोग पहुंचेंगे। बैठक में इस बात पर बल दिया गया कि इस साल होने वाले सम्मेलन में आमंत्रण कार्ड कागज या प्लास्टिक का नहीं होगा। चरणबद्ध तरीके से इसे बंद किया जाएगा।

इसकी जगह मोबाइल, ई-मेल पर डिजीटल कार्ड भेजा जाएगा। जिससे की वृक्षों को बचाया जा सकेगा। पेट्रोल व डीजल का उपयोग कम होगा। समय की भी बचत होगी। वहीं सड़क दुर्घटनाओं में कमी आएगी। अक्सर आमंत्रण बांटने लोग बाइक या कार का अधिक इस्तेमाल करते हैं। जबकि मोबाइल के आने लोग न केवल एक-दूसरे का संदेश आसानी से प्राप्त कर सकते हैं वरन वीडियो काल के जरिए बातचीत भी संभव है। लिहाजा ई-कार्ड के जरिए समाज के लोगों को जागरूक करेंगे। सम्मेलन में वैवाहिक, मांगलिक एवं अन्य कार्यक्रमों में भी ई-कार्ड को बढ़ावा देने बल दिया जाएगा।

25 दिसंबर तक जमा होगा बायोडाटा

अध्यक्ष अशोक जायसवाल ने यह भी कह कि बैठक में आठ प्रमुख प्रस्तावों पर चर्चा कर निर्णय हुआ है। जिसमें आडिट रिपोर्ट, परिचय सम्मेलन, विविध कार्यक्रम, ग्रामीण अचंल व आसपास प्रचार प्रसार, समूह का निर्माण, समाज के लिए भूमि आबंटन की प्रक्रिया को यथाशीघ्र पूर्ण करने पर बल, प्रतिभावान छात्रों को सम्मान, समाज के गरिमामय व्यक्तियों को समाज गौरव प्रतीक चिन्ह भेंट सहित २५ दिसंबर तक युवत युवतियों का बायोडाटा जमा लेने का निर्णय लिया गया है।

इस अवसर पर प्रमुख रूप से समाज के संरक्षक राजकुमार जायसवाल,सुनील ( दुर्गा) जायसवाल, बसंत जायसवाल, शिव जायसवाल, गोरेलाल डडसेना, कोमल राम डडसेना, दाउलाल डिक्सेना, दीपक जायसवाल, संजय जायसवाल, नरेश जायसवाल, प्रदीप जायसवाल,पेशीराम जायसवाल, अनुप सिन्हा एवं मायाराम जायसवाल उपस्थित थे।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close