बिलासपुर। Karwa Chauth 2021: करवा चौथ 24 अक्टूबर को है। रात आठ बजकर दो मिनट पर चंद्रोदय होगा। महिलाएं चलनी की ओट पर चंद्रमा के दर्शन कर पति को देख व्रत पूरा करेंगी। ठीक पहले बाजार में रौनक लौट आई है। गुरुवार की सुबह से न्यायधानी की साड़ी व कास्मेटिक दुकानों में महिलाओं की भारी भीड़ रही। सराफा व्यापारियों से लेकर कुम्हारों के चेहरे पर खुशी झलक रही थी।

करवा चौथ पर इस साल बाजार ने तेजी पकड़ी है। एक अनुमान के मुताबिक बिलासपुर में 80 करोड़ रुपये का कारोबार होने की उम्मीद है। सोना-चांदी खरीदने सराफा दुकानों में जबरदस्त रुझान दिख रहा है। महिलाएं लहंगा, साड़ी, चूड़ी, काजल, पाउडर, सिंदूर से लेकर आभूषण और मोबाइल फोन खरीदने सबसे अधिक डिमांड कर रही है। डाली ड्रेसेस के संचालक सुनील केरवानी की मानें तो इस साल बाजार की स्थिति काफी अच्छी है। कपड़ा बाजार में रौनक लौट आई है। करवा चौथ को लेकर महिलाएं उत्साहित हैं। नए वेरायटी और डिजाइन के लहंगा, चोली और साड़ियों की मांग कर रही है।

कुम्हारों के चाक पर करवा भी आकार लेने लगे हैं। तोरवा क्षेत्र में करवा बनाने वाले कुम्हार रमेश कुमार का कहना है कि पिछले साल के मुकाबले इस साल करवा बनाने दोगुना आर्डर मिला है। रेट भी बढ़ा हुआ है। नई साड़ियों के साथ ही गहने व पूजन सामग्री आदि की खरीदी शुरू कर चुकी हैं। शहर के शनिचरी, बृहस्पति बाजार, देवकीनंदन चौक के पास समेत अन्य जगहों पर पूजन सामग्रियों की बिक्री होने लगी है। वहीं ज्वेलरी से लेकर डिजाइनर व सामान्य साड़ियों की खरीदी भी शुरू हो गई है। इससे इन दुकानों में भीड़ भी देखने को मिल रही है।

सराफा बाजार को 40 करोड़ की उम्मीद

बिलासपुर सराफा एसोसिएशन के अध्यक्ष राजू सलूजा का कहना है कि इस बार करवा चौथ में 40 करोड़ से अधिक के कारोबार की उम्मीद है। पिछले साल की तुलना में बाजार में काफी अच्छी मांग है। महिलाएं मोबाइल पर डिजाइन और आर्डर कर रहीं है।

कास्मेटिक व मोबाइल की भारी मांग

कास्मेटिक व मोबाइल को लेकर काफी मांग है। पुराना बस स्टैंड स्थित दिलीप मोबाइल के संचालक दिलीप कुमार का कहना है कि करवा चौथ में ज्यादार हसबैंड अपनी पत्नी को मोबाइल गिफ्ट करने आर्डर दिया है। स्पेशल पैकिंग के साथ अन्य उपहार भी दे रहे हैं। वहीं जाली कास्मेटिक के संचालक राजू भाई का कहना है कि कुंडल, चूड़ियां, पायल, अंगूठी, हार लेकर सिंगार के समान खरीदने महिलाएं रोजाना पहुंच रही है।

श्रृंगार का समान महंगा, उत्साह बरकरार

श्रृंगार का समान पिछले साल की तुलना में 30 से 40 फीसद महंगा हो चुका है। बाजार से लौटने के बाद निलीमा यादव ने बताया कि मेहंदी कोन जहां पिछले साल 40 से 600 रुपये दर्जन में मिला। इस साल 70 से 120 रुपये है। इसी तरह लिपिस्टिक, नेल पालिश, सिंदूर, काजल, फेस पाउडर और मस्करा भी 100 से 1200 रुपये तक मिल रहा है। गांधी चौक निवासी रिता राजगीर ने कहा कि त्योहार का अपना एक अलग मजा है। महंगाई निश्चित रूप से बढ़ी है लेकिन लोगों का उत्साह भी कम नहीं हुआ है।

करवा चौथ का विशेष महत्व: पंडित रमेश

राधा कृष्ण मंदिर के पूजारी पंडित रमेश तिवारी के मुताबिक सुहागिन महिलाओं के लिए करवा चौथ के व्रत का विशेष महत्व है। इस बार यह 24 अक्टूबर को पड़ रहा है। इस दिन भोर में हीं व्रत की शुरुआत हो जाएगी। दिनभर निर्जला व्रत करने के बाद शाम को पूजन की शुरुआत की जाएगी। वहीं चंद्रोदय रात 8.02 बजे होगा। इसके साथ ही चलनी की ओट से चंद्रमा को देखने के बाद व्रती महिलाएं अपने पति को देखेंगी। साथ ही उनकी दीर्घायु की कामना करेंगी। पति के हाथों से ही पानी पीकर व्रत का पारण करेंगी। इसके लिए वे अभी से ही तैयारियां शुरू कर चुकी हैं।

यह है मुहूर्त

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, इस साल चतुर्थी तिथि की शुरुआत 24 अक्टूबर को ही भोर में 03:01 बजे से होगा। यह 25 अक्टूबर की सुबह 5:43 बजे तक रहेगी। इस साल करवा चौथ व्रत पर पूजन का शुभ मुहूर्त शाम 5:30 बजे से शाम 6:45 बजे तक का रहेगा। यानी इसकी अवधि एक घंटे 15 मिनट तक की रहेगी। इस दिन चंद्रोदय रात 8:02 बजे होगा। वहीं करवा चौथ व्रत का समय सुबह 6.01 बजे से रात 08.02 बजे तक यानी कुल 14 घंटे एक मिनट का रहेगा।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local