बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

नवरात्रि में शहर में विभिन्न जगहों पर भव्य पंडाल सजता है और माता के भक्तिमय रूप के साथ ही आकर्षक झांकियों की शोभा देखते ही बनती है। इसी कड़ी में इस बार कोन्हेर गार्डन में माता के दर्शन के साथ ही भारत दर्शन होगा। इसमें देश के पावन तीर्थ स्थल के साथ ही देश की पहचान बन चुके पर्यटन स्थलों की झलक रहेगी। 10 झांकियों में पूरा देश सिमटेगा। इसमें तीर्थ स्थल के साथ पर्यटन स्थलों का दुर्लभ नजारा रहेगा।

तिलक नगर दुर्गोत्सव समिति के स्थापना के 24वें वर्ष में भारत दर्शन की थीम पर पंडाल को आकार दिया जा रहा है। इसमें देशभर के पवित्र व दर्शनीय स्थल के दर्शन भक्त कर सकेंगे। इसमें तिरुपति बालाजी, रामेश्वरम, आगरा का ताजमहल, छत्तीसगढ़ की पहचान चित्रकोट समेत 10 प्रमुख झांकियां आकर्षण का केंद्र होगी। इससे भक्तों को अपने ही शहर में बालाजी के साथ ही कई पावन तीर्थों के दर्शन का पुण्य लाभ मिल सकेगा। समिति के अध्यक्ष आशीष सिंह ने बताया कि हमेशा ही पंडाल को देश के किसी न किसी मंदिर के रूप में सजाया जाता है। इससे शहरवासियों को अपने ही शहर में उन सभी मंदिरों के दर्शन हो जाते हैं। समिति की परंपरानुसार इस बार भी 10 अलग-अलग झांकियों के माध्यम से शहरवासियों को भारत दर्शन करवाया जाएगा। इसमें वे पवित्र तीर्थ स्थलों के साथ ही पर्यटन स्थल का भी दर्शन कर सकेंगे।

आठ छोटे-छोटे पंडाल

समिति की परंपरानुसार मुख्य पंडाल के अंदर माता की प्रतिमा की स्थापना होगी। साथ ही आठ बाई आठ के 10 छोटे-छोटे पंडाल सजाए जाएंगे। इसमें छत्तीसगढ़ के साथ देशभर के तीर्थ व पर्यटन की प्रतिकृति सजेगी।

0 मुख्य द्वार पर देश का नक्शा

मुख्य द्वार पर प्रवेश के साथ ही लोगों को भारत दर्शन जैसी अनुभूति हो इसके लिए मुख्य द्वार पर विशाल भारत का नक्शा सजेगा।

हमेशा देश की कराते हैं सैर

समिति के पदाधिकारियों का कहना है कि हमेशा ही देश की सैर कराते रहे हैं। इसमें पहले भी देश के प्रसिद्घ मंदिरों के रूप में पंडाल को सजाया गया था। इसी परंपरा के तहत इस बार भी भारत दर्शन होगा। जिन जगहों पर लोग किसी कारण से नहीं जा पाते हैं वे पंडाल में उनके दर्शन का आनंद ले सकेंगे।