बिलासपुर। कोनी वन विभाग कार्यालय मार्ग जर्जर हो गया है। यहां की सड़क पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। इसके चलते मार्ग पर चलने वाले लोगों को काफी परेशानी होती है । जिससे दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। इसकी जिम्मेदार अधिकारियों का नंबर नहीं कराई जा रही है। वन विभाग से बिरकोना जाने के लिए बाईपास सड़क बनाई गई है। लेकिन, अभी तक डमरीकरण नहीं किया गया भारी वाहनों के चलने के कारण सड़क की हालत जर्जर हो गई है।

वन विभाग के कर्मचारियों का कहना है कि इस मार्ग पर पैदल और वाहनों से भी आना जाना मुश्किल है। जिम्मेदार जनप्रतिनिधि व पार्षद भी डाबरीकरण के लिए ध्यान नहीं दे रहे हैं। जिससे यह सड़क सालों से जर्जर स्थिति में पड़ी है। गोलू यादव का कहना है कि नगर निगम में शामिल होने के बावजूद कालोनी विकास से कोसों दूर है। सड़क पूरी तरह से जर्जर है। वहां से आना जाना संभव नहीं है। सड़क किनारे बिजली की व्यवस्था तक नहीं है। शाम होने के बाद सड़क पर अंधेरा हो जाता है जिससे आने जाने वालों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

वन विभाग के अफसर भी नहीं देते ध्यान

वन विभाग संचालित होने के कारण इस मार्ग से रोजाना विभाग के डीएफओ से लेकर कर्मचारी आना जाना करते हैं। लेकिन अधिकारियों ने अभी तक सड़क निर्माण के लिए कोई प्रयास नहीं किया है। पीडब्ल्यूडी विभाग को एक चिट्ठी तक नहीं लिखी है। यही वजह है कि पीडब्ल्यू विभाग के अफसर कभी रूची तक नहीं लेते हैं।

भारी वाहन चलते हैं

बाईपास रोड से रेत से भरे ट्रक्टर, ट्रक भारी वाहनों का आना जाना होता है। जिसके चलते सड़क गढ्ढों में बदल गई है। वाहन मालिक भी गढ्ढों को पाटने का कोई प्रयास नहीं करते हैं।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local