बिलासपुर। Bilaspur News: कलेक्टर किरण कौशल ने जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के सभी रजिस्ट्रारों की बैठक लेकर केंद्रीय साफ्टवेयर का उपयोग करते हुए जन्म एवं मृत्यु का शत प्रतिशत आनलाइन पंजीयन करने के निर्देश अंतर्विभागीय समन्वय समिति की बैठक में दिए हैं। आनलाइन पंजीयन के बाद बने प्रमाण पत्रों का वितरण निश्शुल्क किया जाएगा। जन्म एवं मृत्यु की रिपोर्टिंग नहीं करने वाले रजिस्ट्रार अधिकारियों के विरूद्ध अर्थदण्ड लगाने की कार्रवाई भी होगी।

कौशल ने कलेक्टोरेट सभा कक्ष में जन्म एवं मृत्यु पंजीयन से जुड़े अधिकारियों और रजिस्ट्रारों की अंतर्विभागीय समन्वय समिति की बैठक ली। उन्होंने सभी जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों, पंचायत सचिवों, शासकीय एवं निजी चिकित्सालयों के प्रभारी अधिकारियों, नगरीय निकायों के स्वास्थ्य अधिकारियों को अपने-अपने कार्यक्षेत्र में होने वाली जन्म एवं मृत्यु की रिपोर्टिंग आनलाइन सााफ्टवेयर में अनिवार्यत: करने कहा। कलेक्टर ने बैठक में रजिस्ट्रारों को उनके क्षेत्र में होने वाले सभी जन्म-मृत्युुओं का पंजीकरण करने, प्रमाण पत्र वितरण करने और इसका मासिक प्रतिवेदन हर माह की पांच तारीख तक प्रेषित करने के सख्त निर्देश दिए।

उन्होंने पंजीयन नहीं किए जाने अथवा रिपोर्टिंग नहीं किए जाने की स्थिति में संबंधित रजिस्ट्रारों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई करने, अर्थदंड वसूलने को कहा। जन्म प्रमाण पत्र बच्चे का प्रथम वैधानिक अधिकार और पहचान- जन्म प्रमाण पत्र बच्चे का प्रथम वैधानिक अधिकार और पहचान है।राशन कार्ड में नाम जुड़वाने इत्यादि में भी इसका उपयोग होता है।

समाज कल्याण योजनाए बनाने के लिए और उनका लाभ उठाने के साथ जनसंख्या और स्वास्थ्य संबंधी आंकड़े के लिए उपयोगी है। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुंदन कुमार, सिविल सर्जन डा अरूण तिवारी, सीएमएचओ डा बीबी बोडे, जिला योजना एवं सांख्यिकी अधिकारी एमएस कंवर, जिला कार्यक्रम अधिकारी आनंद किस्पोट्टा सहित सभी अनुभागों के एसडीएम और जन्म-मृत्यु पंजीयन करने वाले रजिस्ट्रार भी शामिल हुए।

बीमा योजना के भुगतान के लिए मृत्यु प्रमाण पत्र जरूरी

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के भुगतान के लिए भी मृत्यु प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है। इसके लिए भी एक सप्ताह के भीतर पंजीकरण कर मृत्यु प्रमाण पत्र वितरण करने के निर्देंश दिए गए।

जन्म मृत्यु पंजीयन कराने की इकाई- ग्रामीण क्षेत्रों में जन्म-मृत्यु पंजीयन कराने की इकाई सभी ग्राम पंचायतें है। शहरी क्षेत्रों में सभी नगरीय निकायों नगर निगम नगर पालिका परिषद, नगर पंचायत के अलावा संस्थाएं जैसे सभी शासकीय एवं सार्वजनिक उपक्रमों के अस्पताल में जन्म-मृत्यु पंजीयन का कार्य किया जाता है।

Posted By: sandeep.yadav

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags