बिलासपुर। आधी रात श्रीकांत वर्मा मार्ग तिराहे के पास स्थित बार से काम कर लौट रहे मैनेजर और बार कर्मी की सड़क हादसे में मौत हो गई। दोनों एक ही गांव के रहने वाले थे। वे मंगला में किराए का मकान लेकर रहते थे। इसकी सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया है। मामले में पुलिस दुर्घटनाकारित वाहन की तलाश कर रही है।

रतनपुर क्षेत्र के रानीगांव में रहने वाले मोहन देवांगन(23) श्रीकांत वर्मा मार्ग तिराहे के पास स्थित बार में मैनेजर थे। उनके ही गांव में रहने वाला जावेद खान(27) भी बार में काम करता था। शुक्रवार की रात एक बजे दोनों बार में काम खत्म कर मंगला स्थित किराए की मकान में लौट रहे थे। बाइक सवार मैनेजर और उनके साथी मंगला चौक के पास पहुंचे थे। इसी दौरान पीछे से आ रहे अज्ञात वाहन ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी। हादसे में मोहन देवांगन की मौके पर ही मौत हो गई।

हादसे में जावेद को गंभीर चोटे आई थी। किसी ने दुर्घटना की सूचना डायल 112 को दी। साथ ही सिविल लाइन पुलिस को इसकी जानकारी दी गई। सिविल लाइन पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव कब्जे में ले लिया। हादसे में गंभीर रूप से घायल जावेद को उपचार के लिए सिम्स भेजा गया। सिम्स में जांच के बाद डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर शव चीरघर भेज दिया। शनिवार की सुबह घटना की सूचना मृतक के स्वजन को दी गई। पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजन को सौंप दिया गया है।

छह महीने पहले की थी लव मैरिज

मृतक मोहन का परिचित युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों अलग—अलग समाज के थे। इसके कारण परिवार वाले उनकी शादी के खिलाफ थे। मोहन ने छह महीने पहले युवती से शादी कर लिया। इसके बाद वह मंगला में किराए की मकान लेकर उसके साथ रहने लगा।

जावेद गांव से करता था आना—जाना

मृतक जावेद खान रानीगांव से रोज आना—जाना करता था। बार में काम करते हुए देर होने पर वह अपने साथी मोहन के मकान में रुक जाता था। शुक्रवार को मौसम खराब होने पर मोहन ने उसे अपने पास रोक लिया था। काम खत्म होने के बाद दोनों उसके किराए के मकान में जा रहे थे।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local