बिलासपुर। छत्तीसगढ़ आयुर्विज्ञान संस्थान (सिम्स) ने मेडिसिन डिपार्टमेंट में पीजी की क्लिनिकल सीट की मांग एमसीआइ से की है। वही एमसीआइ ने ईमेल के माध्यम से इसी सप्ताह आने की जानकारी दी है। ऐसे में अब मेडिसिन की सीट मिलना तय माना जा रहा है।

एक सप्ताह पहले ही आयुष विश्वविद्यालय की तीन सदस्यीय टीम ने सिम्स का निरीक्षण किया था। इस दौरान टीम ने मेडिसिन विभाग का जायजा लिया। साथ ही कालेज पहुचकर पढ़ाने के तरीकों का अवलोकन किया। टीम ने बताया कि निरीक्षण की रिपोर्ट एमसीआई को भेजा जाएगा। यदि एमसीआई को लगा कि सिम्स को मेडिसिन की सीट दी जा सकती है तो वह निरीक्षण के लिए आएगी।

वहीं रिपोर्ट मिलने के बाद एमसीआइ ने सिम्स प्रबंधन को जानकारी दी है कि संभवत: इस सप्ताह अधिकारी निरीक्षण के लिए सिम्स पहुंचेंगे, आयुष विश्वविद्यालय की टीम का फीडबैक अच्छा रहा है। मालूम हो कि अभी सिम्स में अभी पीजी की 36 सीट की मान्यता मिली है। जबकि सबसे महत्वपूर्ण डिपार्टमेंट मेडिसिन अब भी खाली है। ऐसे में सिम्स प्रबंधन ने मेडिसिन डिपार्टमेंट को पीजी सीट के लायक बताया है। प्रबंधन के मुताबिक 100 बेड का हाई टेक वार्ड ही पीजी सीट के लिए काफी है।

मालूम हो कि कुछ दिनों पहले ही गायनिक की पीजी सीट के लिए एमसीआइ का निरीक्षण हो चुका है, वही फिर से सिम्स प्रबंधन ने एमसीआई को जानकारी दी है कि मेडिसिन, आर्थोपेडिक और गायनिक की पीजी सीट के लिए तमाम संसाधन व सुविधा जुटा लिया गया है, ऐसे में इनकी पीजी सीट की पढ़ाई में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आएगी। वैसे सिम्स के अधिकारियों का कहना है कि इस बार पीजी की सीट में बढ़ोतरी होना तय होगी।

मेडिसिन की क्लिनिकल सीट मांगी गई है। एमसीआई ने जल्द निरीक्षण के लिए आने की बात कही है।

डाक्टर आरती पांडेय, पीआरओ, सिम्स

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local