बिलासपुर। बिलासपुर रेल मंडल कार्यालय में राजभाषा कार्यान्वयन समिति की बैठक आयोजित हुई। मंडल रेल प्रबंधक आलोक सहाय की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक के दौरान समीक्षा के साथ- साथ अफसरों कहा गया कि वे अपने- अपने कार्यालय में खुद हिंदी में काम करें। इसके अलावा अधीनस्थ कर्मचारियों को इसके लिए प्रेरित भी करें।

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर मंडल में आयोजित इस समिति की बैठक में अपर मुख्य राजभाषा अधिकारी एवं अपर मंडल रेल प्रबंधक देवराज एवं समिति के सदस्य उपस्थित रहे। यह बैठक समय-समय पर होती है। जिसमें अधिकारी व कर्मचारियों को अधिक से अधिक संख्या में हिंदी में ही काम करने के लिए कहा जाता है। इस दौरान यह समीक्षा भी की जाती है।

इसी के तहत यह महत्वपूर्ण रखी गई थी। बैठक के प्रारंभ में प्रभारी राजभाषा अधिकारी एवं वरिष्ठ मंडल सिग्नल एवं दूरसंचार इंजीनियर/लाइन ने समिति के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं उपस्थित सभी सदस्यों का आभार व्यक्त किया और इसके बाद प्रभारी राजभाषा अधिकारी द्वारा रेलवे बोर्ड के मानक कार्यसूची के अनुसार प्रेजेंटेशन के माध्यम से जनवरी- मार्च 2022 तिमाही में हुई राजभाषा प्रगति की समीक्षा प्रस्तुत की गई। समीक्षा सामान्य रही।

यही वजह है और अधिक से अधिक हिंदी में काम करने की आवश्यकता महसूस की गई। अपर मुख्य राजभाषा अधिकारी एवं अपर मंडल रेल प्रबंधक ने अपने उद्बोधन में कहा कि अधिकारी स्वयं हिंदी में काम करें एवं अपने अधीनस्थ अधिकारियों एवं कर्मचारियों को हिंदी में काम करने के लिए प्रेरित एवं प्रोत्साहित करें। समिति के अध्यक्ष एवं मंडल रेल प्रबंधक ने कहा कि बिलासपुर मंडल में राजभाषा नीति का कार्यान्वयन सुचारू रूप से हो रहा है। इसे बनाए रखें।

कई विभागों का कामकाज हिंदी में ही हो रहा है। सबसे अच्छी बात यह है कि जहां पर भी अधिकारी व कर्मचारियों को दिक्कत होती है। वह संबंधित राजभाषा विभाग के अधिकारियों की मदद भी लेते हैं। इसी तरह एक- दूसरे से सामंजस स्थापित कर हम शत प्रतिशत काम हिंदी में ही कर सकते हैं।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close