बिलासपुर। Meeting of The Commissioner: संभागायुक्त डा. संजय अलंग ने शुक्रवार को संभाग के अंतर्गत आने वाले जिले बिलासपुर, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही, मुुंगेली, जांजगीर-चांपा, कोरबा और रायगढ़ के राजस्व और कृषि विभाग के अधिकारियों की वर्चुअल बैठक ली। इस दौरान अफसरों को गिरदावरी कार्य के संबंध में जरूरी हिदायत दी। उन्होंने दोटूक कहा कि गिरदावरी के दौरान किसी तरह की कोई गड़बड़ी ना हो इसका विशेष ध्यान रखा जाए। साथ ही यह भी कहा कि 15 दिनों के भीतर कार्य की समीक्षा की जाएगी। अपडेट तैयारी के साथ अफसरों को बैठक में उपस्थित रहने की हिदायत भी दी।

वर्चुअल बैठक के दौरान कमिश्नर डा. अलंग ने कहा कि राज्य शासन द्वारा गिरदावरी कार्य में नए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। इसमें राजस्व, कृषि, पंचायत और उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जाना है। यह प्रशिक्षण तहसील, अनुविभाग एवं जिला स्तर पर होगा। संभागायुक्त डा. अलंग ने सभी जिलों में आयोजित प्रशिक्षण कार्यक्रम की जानकारी ली और कहा कि जिन गांवों में गिरदावरी कार्य किया जाना है वहां संबंधित चारों विभाग के अधिकारी, कर्मचारी सम्मिलित होंगे।

पहले कोटवार करेंगे मुनादी

जिन गांवों में गिरदावरी की जानी है, वहां पहले कोटवार के जरिए मुनादी करानी होगी। मुनादी के दौरान कोटवार द्वारा गिरदावरी की तिथि भी बताई जाएगी व ग्रामीणों को इस दौरान उपस्थित रहने कहा जाएगा। इसमें पूर्व में की गई गिरदावरी के दौरान हुई गलतियों को भी सुधारा जाएगा।

इन अफसरों को मिली जिम्मेदारी

0 एसडीएम,तहसीलदार तथा संबंधित विभागों के अनुविभागीय अधिकारी 10 प्रतिशत गिरदावरी कार्याें की जांच करेंगे।

0 कलेक्टर गिरदावरी कार्याें के दो प्रतिशत की जांच स्वयं करंेगे।

0 राज्य शासन के निर्देशों के अनुरूप त्रुटि रहित गिरदावरी कार्य राजस्व अमलों को करना है।

0 समय सीमा में कार्य पूर्ण करना होगा।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local