बिलासपुर। समुद्री चक्रवात जवाद का खतरा लगभग टल चुका है। जिसके कारण मौसम में बदलाव नजर आने लगा है। सोमवार की सुबह बिलासपुर में न्यूनतम तापमान बढ़ गया। पारा 16.3 डिग्री सेल्सियस से चढ़कर 18 डिग्री पर पहुंच गया। जिसके चलते सुबह ठंडी का अहसास कम हुआ। मौसम विभाग की मानें तो आज से तापमान में गिरावट आएगी।

मौसम वेधशाला लालपुर के मौसम विज्ञानी डा.एचपी चंद्रा के मुताबिक चक्रवाती तूफान 'जवाद' कमजोर होकर रविवार की मध्यरात्रि के आसपास कमजोर होकर एक चिह्नित निम्न दबाव क्षेत्र में परिवर्तित होने लगा। जिसके कारण काफी मात्रा में नमी आने के कारण बिलासपुर संभाग में मध्य स्तर के बादल छाए छाए रहे। प्रदेश में पूर्व से हवा आने के कारण छह दिसंबर को मौसम शुष्क रहने की संभावना है।

प्रदेश में न्यूनतम तापमान में और अधिकतम तापमान में विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है। मौसम में हुए इस परिवर्तन के बीच राहत की खबर यह है कि छत्तीसगढ़ में चक्रवात का असर नहीं हुआ। किसान इसे लेकर बेहद चिंतित थे। मौसम में ​उतार चढ़ाव के कारण स्वास्थ्य पर भी इसका विपरित असर दिखने लगा है।

अचानक से सर्दी,खांसी और हाथ पैर में दर्द के मरीज बढ़ने लगे हैं। अस्पताल के ओपीडी में रोजाना मरीज पहुंच रहे हैं। फिलहाल बिलासपुर में सुबह से मौसम शुष्क बना हुआ है। सूर्योदय के साथ धूप खिली हुई है। रात में हल्की उमस जरूर रही लेकिन दिन निकलने के साथ थोड़ी राहत मिली। बता दें कि एक इस सप्ताह न्यूनतम तापमान में जबरदस्त उतार चढ़ाव आया है।

बिलासपुर का तापमान

अधिकतम 28.8

न्यूनतम 18

पेंड्रारोड का तापमान

अधिकतम 28.7

न्यूनतम 14.1

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local