बिलासपुर । सहकारिता मंत्री दयालदास बघेल ने कहा कि किसानों को बोनस नहीं देंगे। प्रदेश के किसान साधन संपन्न हैं। वैसे भी राज्य सरकार कई ऐसी योजनाओं के माध्यम से किसानों को सीधा फायदा पहुंच रही है। जब उनको फायदा पहुंचाया जा रहा है तो बोनस की जरूरत ही कहां है।

सहकारिता मंत्री श्री बघेल रविवार को छत्तीसगढ़ भवन में पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। वे लोक सुराज अभियान में प्राप्त आवेदनों के निराकरण के संबंध में समीक्षा बैठक लेने आए थे। यह पूछे जाने पर कि जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के माध्यम से किसानों ने धान बेच दिया है पर राज्य शासन द्वारा बोनस नहीं दिया है।

किसान अपने आपको ठगा महसूस कर रहे हैं। सहकारिता मंत्री ने दोटूक कहा कि हम किसानों को बोनस नहीं दे रहे हैं। इसकी जरूरत भी नहीं है। मंत्री ने यह भी खुलासा किया कि राज्य शासन द्वारा किसानों को फायदा पहुंचाने के लिए उनके हित से जुड़ी कई योजनाओं का संचालन किया जा रहा है।

योजना से जुड़कर किसान फायदा भी ले रहे हैं। जब किसानों को शासन सीधे फायदा पहुंचा रहा है तो बोनस की जरूरत ही कहां है। मंत्री ने सीधे कहा कि किसानों को बोनस फिलहाल नहीं दे रहे हैं। विभागीय अधिकारियों के साथ फ्रांस दौरे का अनुभव बताते हुए कहा कि वहां अंगूर से शराब बनाई जाती है।

हम लोगों ने भी यह कला सीखी है। प्रदेश में अंगूर की फसल की अपार संभावनाएं हैं। अंगूर की खेती के माध्यम से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा व राज्य सरकार शराब भी बनाएगी। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक में करोड़ों के घोटाले के संबंध में मंत्री ने कहा कि जांच चल रही है।

रिपोर्ट आने के बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। किसी को बख्शा नहीं जाएगा । सुराज अभियान के दौरान प्राप्त आवेदनों के संबंध में मंत्री श्री बघेल ने कहा कि सुराज के दौरान कुछ ऐसे भी आवेदन आए हैं जिसका प्रकरण कोर्ट में चल रहा है। ऐसे मामलों को लंबित रखा गया है। कोर्ट के फैसले के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी ।

मंत्री को पता नहीं बैंक में बंट रहा पीओएस

जिला सहकारी केंद्रीय बैंक में पीओएस मशीन वितरण के संबंध में पूछे जाने पर मंत्री ने कहा कि इसकी जानकारी नहीं है। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के सीईओ अभिषेक तिवारी ने मंत्री को बताया कि कृषि विभाग की योजना के तहत बैंक में पीओएस बांटा जा रहा है।