बिलासपुर। आगामी बजट सत्र के दौरान छत्तीसगढ़ विधानसभा में नई व्यवस्था नजर आएगी। विधायकों को अब आनलाइन सवाल पूछने होंगे। इसी संबंध में शुक्रवार को प्रदेश के साथ ही जिले के विधायक वर्चुअल प्रशिक्षण ले रहे हैं। विधायकों के साथ उनके निज सचिव भी ट्रेनिंग ले रहे हैं। आमतौर यह काम उनको ही करना है। लिहाजा विधानसभा से निज सचिवों को भी प्रशिक्षण लेने को कहा गया है।

पेपरलेस कामकाज की दिशा में छत्तीसगढ़ विधानसभा ने कदम बढ़ाया है। इसी सिलसिले में विधानसभा ने सभी विधायकों को आगामी बजट सत्र के दौरान आनलाइन सवाल भेजने का अनुरोध किया है। सवाल और जवाब देने की प्रक्रिया पूरी तरह आनलाइन रहेगा। संबंधित विभाग द्वारा विधायकों को पूछे गए सवाल का जवाब आनलाइन भेजने होंगे। इसके लिए विधानसभा ने विधायको के ईमेल आइडी उपलब्ध करा दी है। इस नई व्यवस्था से समय के साथ पैसे की भी बचत होगी। काम की गति भी बढ़ेगी। अभी होता यह है कि जवाब के लिए संबंधित विभाग को पेपर में पूरी जानकारी देनी पड़ती है। इसमें समय ज्यादा लगता है। विधायकों से आनलाइन सवाल लेने के लिए विधानसभा प्रशासन ने नया वेब एप्लीकेशन तैयार किया है। विधायकों को इसी ऐप्लिकेशन में सवाल अपलोड करने होंगे।

निज सचिव भी जान रहे प्रक्रिया

आनलाइन सवाल भेजने और आने वाले जवाब को खोलने के लिए विधायक और निज सचिव वर्चुअल जुड़कर प्रशिक्षण ले रहे हैं। विधायकों व निज सचिव के बाद विभागीय अधिकारी व कर्मचारियों को ट्रेनिंग दी जाएगी। एक फरवरी तक प्रशिक्षण कार्यक्रम चलेगा।

जिले के अफसर भी लेंगे ट्रेनिंग

आनलाइन सवाल जवाब के लिए विधायकों व निज सचिव के बाद प्रदेश के साथ ही जिले के सभी विभागों के अधिकारी व कर्मचारी ट्रेनिंग लेंगे। इस संबंध में विधानसभा ने प्रदेशभर के कलेक्टरों को पत्र लिखकर निर्देश जारी कर दिया है।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local