बिलासपुर। नगर विधायक शैलेष पांडेय ने शुक्रवार को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय के बैठक कक्ष में मितानिन प्रेरकों की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने मितानिनों की समस्या पुछी और हल करने की बात कही। विधायक ने कहा कि कोरोना काल में मितानिनों के किए गए कार्य सदैव याद रखे जाएंगे। संकट के समय उन्होंने सेवा भाव के साथ काम किया है। मितानिनों के सहयोग से ही कोरोना संक्रमण पर लगाम लगाया जा सका है।

इस दौरान विधायक शैलेष ने केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मंडाविया को पत्र लिखकर कोरोना काल में मितानिनों के कार्यों के लिए कोविड भत्ता देने की मांग की है। मितानिन प्रेरकों की बैठक में विधायक ने मितानिनों को मितानिन किट बैग देने की घोषणा की। इसके लिए उन्होंने 10 लाख रुपये प्रदान करने की बात कही। बिलासपुर मितानिन किट में आक्सीमीटर, थर्मामीटर, टेबल वाच, छाता एवं रेनकोट रहेगा। इससे मितानिनों को धूप और बरसात से बचाव होगा और कार्य करने में सहायता मिलेगी। वहीं विधायक ने मितानिन भवन निर्माण के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. प्रमोद महाजन को स्थल चयन करने के लिए निर्देशित किया।

ताकि मितानिनों को कार्य करने के लिए उपयुक्त जगह प्रदान की जा सके। बैठक में डा. विजय सिंह, डीपीओ पियूली मजूमदार, सीपीएम डा. टार्जन आदिले, डीएमसी उमेश पांडेय, मितानिन प्रेरकों में विजेता साहू, तिलेश्वरी साहू, सरस्वती साहू, सीता साहू, सरिता सोनी, शकुन मसीह, सावित्री दुबे, हेमलता श्रीवास्तव, शिल्पा पांडेय, ममता यादव, पुष्पांजलि यादव, पूर्णिमा सोनी, शांता सूर्यवंशी, संतोषी ठाकुर, रजिया बेगम, रेखा यादव, दुर्गा अहिरवार, रेखा सूर्यवंशी, रीना वर्मा, दुर्गेश उईके, सुधा नागपुरे, वंदना मिश्रा, सोनिका यादव, संजू बेगम, दुर्गा श्रीवास्तव आदि उपस्थित थे।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local