बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मौसम बदल रहा है। इस बीच मानसून द्रोणिका के सक्रिय होने के कारण कई बार वर्षा की स्थिति भी बन रही है। रविवार को धूप-छांव की स्थिति बनी रही। आसमान में काले घने बादल भी आए लेकिन बिन बरसे चले गए। मौसम विभाग की मानें तो आसमान में बादलों की हलचल जारी है। वर्षा की संभावना कम है। मौसम वेधशाला के मौसम डा.एचपी चंद्रा के मुताबिक एक द्रोणिका उत्तर पंजाब से दक्षिण बिहार तक 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है।

एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी और उस आसपास स्थित है, जो 3.1 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। प्रदेश में 26 सितंबर को एक-दो स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने या गरज-चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज-चमक के साथ वज्रपात भी हो सकती है। हालांकि संभाग में वर्षा की संभावना बहुत कम है। बता दें कि शनिवार से रविवार तक जिले की सभी तहसीलों में वर्षा की स्थिति शून्य रही। एक दिन पूर्व दिन का अधिकतम तापमान 30.1 डिग्री था जो आज 32 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। वहीं रात में पारा गिरा है।

बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र

मौसम विशेषज्ञ सिराज खान की मानें तो छत्तीसगढ़ में हवा का रूख बदलने के कारण बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। इसके अलावा पछुआ हवाओं का आगमन का भी समय है। बता दें कि यह दोनों गोलार्द्धों में उपोष्ण उच्च वायुदाब कटिबंधाें से उप ध्रुवीय निम्न वायुदाब कटिबंधों की ओर चलने वाली स्थायी हवा को इनकी पश्चिम दिशा के कारण पछुआ हवा कहते हैं। पछुवा पवन का सर्वश्रेष्ठ विकास 40 डिग्री से 65 डिग्री दक्षिण अक्षांशों के मध्य पाया जाता है।

प्रमुख शहरों का तापमान

शहर --- अधिकतम --- न्यूनतम

बिलासपुर --- 32 --- 24.2

पेंड्रारोड --- 29.5 --- 19.4

अंबिकापुर --- 28.6 --- 22.5

माना --- 31 --- 23.6

जगदलपुर --- 31.7 --- 22.2

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close