बिलासपु। Bilaspur News: अचानकमार टाइगर रिजर्व में पर्यटकों को नए भ्रमण रूट की सुविधा फिलहाल नहीं मिलेगी। टाइगर रिजर्व प्रबंधन इसके लिए प्रयास तो शुरू किया था। पर इसे गति नहीं मिल पाई। इसके चलते योजना एक बार अधर में हैं। इधर एक नवंबर से टाइगर रिजर्व पुन: पर्यटकों की सैर के लिए खोल दिया जाएगा। पहले कोरोना संक्रमण के चलते टाइगर रिजर्व बंद था। अब बारिश की वजह से इसे बंद रखा गया है।

एक जुलाई से 31 अक्टूबर तक हर साल इसी तरह पर्यटकों की सैर पर पाबंदी रहती है। यह महीना समाप्त होने वाला है। जब टाइगर रिजर्व खुलेगा तो पर्यटकों को लिए कुछ नया नहीं रहेगा। हालांकि उम्मीद थी कि प्रबंधन केंवची-आमाडोब, रंजकी-लमनी से वापस केंवची तक एक भ्रमण रूट की सौगात देगा। 40 किमी के इस मार्ग के जरिए पर्यटक वन्य प्राणी के साथ-साथ जंगल का भी मजा ले सकेंगे। इसकी मरम्मत कराकर सैर लायक तैयार करने की कवायद भी कुछ महीने शुरू हो गई थी।

कही न कही पर्यटकों इसे लेकर उत्साह था कि चार महीने बाद जब टाइगर रिजर्व खुलेगा तो उन्हें यह नई सुविधा मिलेगी। पर टाइगर रिजर्व प्रबंधन की योजना अब तक धरातल पर नहीं आ सकी। अब यह जिस स्थिति में हैं, उससे माना जा सकता है कि इस साल भी पर्यटकों के लिए यह शुरू नहीं होगा। वर्तमान में अचानकमार बैरियर के पास बने बैरियर से भ्रमण के लिए प्रवेश दिया जाता है।

वापसी भी यहीं से होती है। नए भ्रमण रूट बनने से अमरकंटक, गौरेल, मरवाही व पेंड्रा की तरफ से आने वाले पर्यटकों को लाभ मिलेगा। अभी वे सैर के लिए सभी बैरियर पार कर शिवतराई तक पहुंचते हैं। केंवची से लमनी व वापस केंवची तक नया रूट बनने से उन्हें शिवतराई तक आने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close