बिलासपुर। बिजली कंपनी ने 220/132 केवी उपकेंद्र मुंगेली में 40 एमवीए क्षमता का नया अतिरिक्त पावर ट्रांसफार्मर ऊर्जीकृत कर लिया है। इससे 125 गांवों में गुणवत्तापूर्व बिजली सप्लाई शुरू हो गई। ग्रामीणों को बड़ी राहत मिली है। छत्तीसगढ़ स्टेट पावर ट्रांसमिशन कंपनी द्वारा अति उच्चदाब उपकेंद्रों की क्षमता में लगातार वृद्धि की जा रही है। कंपनी की इस दूरगामी पहल के परिणामस्वरूप उपकेंद्र मुंगेली में 40 एमवीए क्षमता का नया अतिरिक्त पावर ट्रांसफार्मर ऊर्जीकृत किया गया। यह बड़ी उपलब्धि है और ग्रामीण उपभोक्ताओं के लिए बड़ी राहत है। इसके लिए कंपनी ने काफी प्रयास किया। तब जाकर इसमें सफलता हासिल हुई।

प्रबंध निदेशक उज्जवला बघेल ने सभी अधिकारी-कर्मचारियों को शाबासी दी और निर्धारित लक्ष्यों को समयसीमा में पूर्ण करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ शासन की रीति-नीति के अनुपालन में पावर कंपनी निरन्तर प्रगति कर ही है। मालूम हो कि 220/132 केह्वी उपकेंद्र मुंगेली में 4.37 करोड़ की लागत से 40 एमह्वीए क्षमता का अतिरिक्त पावर ट्रांसफार्मर स्थापित किया गया है। एक अतिरिक्त पावर ट्रांसफार्मर की स्थापना से दूर-दराज के गांवों तक समुचित वोल्टेज पर निर्बाध विद्युत आपूर्ति करने में मदद मिलेगी। ट्रांसमिशन कंपनी द्वारा आवश्यकता अनुसार उधादाब उपकेन्द्रों की संख्या में वृद्धि करते हुए अतिरिक्त पावर ट्रांसफार्मर की स्थापना भी तेजी से की जा रही है, इससे दूरदराज के अंचलों तक बिजली पहुंचाने में कामयाबी मिल रही है।

ट्रांसफार्मर ऊर्जीकरण के अवसर पर पावर कंपनी के कार्यपालक निदेशक कैलाश नारनवरे, मुख्य अभियंता संदीप गुप्ता, अतिरिक्त मुख्य अभियंता ह्वीके दीक्षित, अधीक्षण अभियंता सीएम बाजपेयी, आरके अग्रवाल, एसके बाजपेयी, कार्यपालन अभियंता जीआर जायसवाल, गौतम केनार, मोह. सफत हरीश एवं सहायक अभियंता वीणा धुव्र, बजरंग विश्वकर्मा एवं मोहन कुमार देवांगन कनिष्ठ अभियंता सहित अन्य कर्मचारी उपस्थित थे। जिन 125 गांवों को लाभ मिलना शुरू हुआ है, वहां के ग्रामीणों का कहना है कि बिजली संकट को लेकर लगातार कंपनी को अवगत कराया जा रहा था। हालांकि यह कार्य किसी चुनौती से कम नहीं था, पर टीक वर्क के कारण काम आखिर में पूरा हो गया।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close