बिलासपुर। भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष व बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद अस्र्ण साव 13 अगस्त को राजधानी दिल्ली से रायपुर आएंगे। प्रदेश कार्यालय में कार्यभार संभालेंगे। प्रमुख नेताओं व पदाधिकारियों से मुलाकात के बाद सड़क मार्ग से बिलासपुर पहुंचेंगे। प्रथम शहर आगमन पर उनके स्वागत की तैयारी की जा रही है। भाजपा के दिग्गज नेताओं से लेकर कार्यकर्ताओं में उत्साह देखा जा रहा है।

वर्ष 2023 में छत्तीसगढ़ में होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए भाजपा शीर्ष नेतृत्व ने पूर्व सांसद विष्णुदेव साय की जगह बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र से सांसद व कानून विद अस्र्ण साव को प्रदेशाध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी है। शीर्ष नेतृत्व के फैसले के बाद से ही मैदानी कार्यकर्ताओं में उत्साह देखा जा रहा है। खासकर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ पदाधिकारियों और स्वयंसेवक खासे उत्साहित दिखाई दे रहे हैं। संघ की नियमित लगने वाली शाखाओं में भी नए प्रदेशाध्यक्ष को लेकर चर्चा छिड़ी हुई है। सांसद साव संघ पृष्ठभूमि से हैं। उनका पूरा परिवार संघ से जुड़ा हुआ है। उनकी राजनीतिक पारी की शुस्र्आत अभाविप से शुरू हुई है। राजनीति के साथ ही साथ कानून के भी अच्छे जानकार हैं। बीते 15 वर्षों तक छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट में उप महाधिवक्ता के पद पर काबिज रहे।

राज्य शासन के महत्वपूर्ण प्रकरणों की पैरवी भी की है। जातिगत समीकरण पर नजर डालें तो प्रदेश की राजनीति में वर्तमान में अहम भूमिका निभाने वाले पिछड़ा वर्ग से ताल्लुक रखते हैं। जातिगत समीकरण के लिहाज से प्रभावी भूमिका में नजर आ रहे हैं। सामाजिक गतिविधियों में भी नवनियुक्त प्रदेशाध्यक्ष अच्छी दखल रखते हैं। प्रखर वक्ता होने के कारण लोगों को बांधने की कला में भी अच्छी तरह वाकिफ हैं। मुद्दोंे पर अपनी बात कहने की सियासी चतुराई भी सांसद साव में है। प्रदेशाध्यक्ष की नियुक्ति की खबर के बाद बीते दो दिनों में प्रदेश में भाजपा शिविर की बात करें तो उन कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों में उत्साह का संचार हुआ हो जिनको वर्तमान नेतृत्व ने उपेक्षित कर दिया था या फिर उपेक्षा की भाव के चलते जमीनी पकड़ रखने वाले कार्यकर्ता घर बैठ गए थे।

भाजपा कार्यालय में छिड़ी चर्चा

स्वाधीनता का अमृत महोत्सव मनाने के लिए बुधवार को संभागीय भाजपा कार्यालय में जिला भाजपा की बैठक रखी गई थी। इसमें शहर के सभी छह मंडलों के पदाधिकारियों को भी आमंत्रित किया गया था। बैठक का एजेंडा था घर-घर तिरंगा। तिरंगा अभियान की चर्चा के बाद नवनियुक्ति प्रदेशाध्यक्ष व सांसद साव की नियुक्ति को लेकर काफी देर तक चर्चा छिड़ी रही। चर्चा के दौरान पदाधिकारियों में उत्साह दिखाई दे रहा था। सकारात्मक चर्चा के बीच कार्यकर्ताओं में उत्साह जगाने से लेकर नए राजनीतिक माहौल खड़ा करने की चर्चा भी हो रही थी। इसी बीच जिलाध्यक्ष रामदेव कुमावत ने नवनियुक्त प्रदेशाध्यक्ष व सांसद साव के 13 अगस्त को शहर आने की जानकारी पदाधिकारियों को देते हुए स्वागत सत्कार के संबंध में चर्चा की व पदाधिकारियों को जिम्मेदारी भी सौंपी।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close