बिलासपुर। विजयपुर के जंगल और प्लांटेशन में वन विभाग के अधिकारियों की उदासीनता से लकड़ी चोरों की नजर लग गई है। सुबह , शाम अवैध पेड़ों की कटाई कर ले जा रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि वर्षा होने पर सरकार के द्वारा पौध रोपण अभियान चलाया जाता है। नेता अधिकारी से लेकर ग्राम पंचायत स्तर में भी पौधा रोपण कर कार्यक्रमों इंटरनेट मीडिया में प्रचार करते हैं । इसके बाद रोपित पौधे का क्या हो रहा है इसको देखने वाला कोई नही है। जिम्मेदार विभाग भी लाखों रुपये खर्च करने के बाद कार्रवाई नहीं की जा रही है। रोपित पौधा का ना तो सतत निगरानी होता है और ना ही सुरक्षा की व्यवस्था है। केवल सुरक्षा व देखरेख के नाम पर लाखों खर्च किया जा रहा है। परंतु जमीन पर वास्तविक स्थिति कुछ और ही है। विजयपुर में वन विभाग द्वारा सन 2017 में 55 हेक्टेयर जमीन में सागौन एवं मिश्रित पौधे का रोपण किया गया था। पौधे पेड़ का रूप लेने लगे तो विभाग ने इस ओर ध्यान देना बंद कर दिया। ग्रामीणों ने बताया कि वन को वन समिति की भरोसे छोड़ दिया गया है। वहीं वन विभाग के कर्मचारियों के नहीं होने का फायदा उठाकर ग्रामीण सागौन पेड़ों की कटाई कर रहे हैं। इस संबंध में वन समिति केसदस्यों के द्वारा मना करने के बावजूद ग्रामीण पेड़ों को काट रहे है। वे वन समिति के सदस्यों को भी धमका रहे हैं। इस संबंध में वन समिति के सदस्यों के द्वारा वन विभाग के अधिकारियों को भी जानकारी दी गई है परंतु विभाग के अधिकारी उदासीन हैं। इससे विजयपुर के उक्त जंगल और प्लांटेशन में सागौन पेड़ों की कटाई जारी है। इस संबंध में वन विभाग के अधिकारियों से संपर्क करने का प्रयास किया गया परंतु हमेशा की भांति फोन नहीं उठाए।

न जमीन पर बढ़ रहा अतिक्रमण : कुछ दिन पूर्व विजयपुर सफरीभाठा के पास स्थित वनभूमि पर ग्रामीणों ने अवैध कब्जा करना प्रारंभ कर दिया था। कुछ स्थानीय जनप्रतिनिधियों के संरक्षण में लोग वनभूमि के अंदर बेजा कब्जा कर घर बना रहे थे इसकी शिकायत होने के बाद विभाग के अधिकारियों ने जाकर बेजा कब्जा रोकवाया था। इसके बाद भी कुछ लोग उक्त जमीन पर अवैध कब्जा करने में लगे हुए है।

अवैध मुरूम खदान भी : वन भूमि से लगे दर्री विजयपुर सफरीभाठा के बीच मुरूम खदान है जहां इन दिनों जमकर अवैध उत्खनन किया जा है। इससे मुरूम खदान का दायरा वनभूमि तक पहुंच गई है। इस ओर किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नही होने से मुरूम खदान का विस्तार होते जा रहा है। लोग मुरूम का खदान बनाने में लगे हुए हैं इसका सुध लेने वाला कोई नहीं है।

शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं: वन भूमि पर अवैध मुरूम उत्खनन और अवैध कब्जा , पेड़ो की अवैध कटाई की शिकायत के बाद भी किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं हुई है ऐसी ही स्थिति रही जंगल में केवल ठूंठ बचेंगे। ग्रामीणों ने बताया कि अब दिन में भी सागौन पेड़ो की कटाई की जा रही है।

जंगल में अवैघ कटाई की जानकारी मिली है। विभाग के अधिकारियों से बात की गई तथा मौके पर टीम भेज कर जांच कर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

- महेश शर्मा, एसडीएम, तखतपुर

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close