बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। इन दिनों जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार थम सी गई है। लगातार 22 दिनों से कोरोनों मरीज नहीं मिला है। फिर भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा संक्रमण को रोकने के लिए लगातार प्रयास किया जा रहा है। कोरोना का अंतिम मरीज बीते 17 नवंबर को मिला था। इसके बाद 22 दिनों से जिले में एक भी कोरोना मरीज नहीं मिला है। ऐसे में जिला कोरोना मुक्त बना हुआ है। हालाकि अभी भी कोरोना गाइडलाइन के पालन करने की सलाह स्वास्थ्य विभाग दे रहा है।

सीएमएचओ डा. अनिल श्रीवास्तव ने बताया कि अभी भी कोरोना संदेही मिलने पर कोरोना जांच किया जा रहा है। लेकिन जांच में कोई भी कोरोना से संक्रमित नहीं मिल रहा है। सभी मौसमी बीमारी से ग्रसित मिल रहे हैं। साफ है कि अब कोरोना वायरस पूरी तरह से कमजोर हो चुका है। जो जिलेवासियों के लिए बड़ी राहत साबित हो रहा है। हालाकि स्थिति के पूरी तरह से नियंत्रण में आने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग गाइडलाइन का पालन करते रहने की सलाह जिलेवासियों को दे रहा है। इससे कि आने वाले दिनों में कोरोना संक्रमण के आने वाले हर गुंजाइश को खत्म किया जा सके। स्वास्थ्य विभाग ने जिलेवासियों से यह भी अपील की है कि यदि किसी को कोरोना के लक्षण मिलते है तो वे जरूर अपना कोरोना जांच कराएं और अपने को पूरी तरह से सुरक्षित करें।

अवश्य लगवाएं सतर्कता डोज

स्वास्थ्य विभाग ने बुजर्गों को कोरोना सतर्कता डोज लेने की सलाह दी है। क्योंकि सतर्कता डोज लेने में बुजुर्ग रुचि नहीं देखा रहे हैं। ऐसे में जो बुजुर्ग बीमार चल रहे हैं या फिर कमजोर हैं। उनके कोरोना से संक्रमित होने की आशंका अधिक रहती है। इसलिए वे सतर्कता डोज लेकर हमेशा के लिए सुरक्षा दायरे में आ सकते हैं। वहीं ऐसे लोग जिन्होंने अभी तक सतर्कता डोज नहीं लिया है, वे जल्द से जल्द सतर्कता डोज लेकर कोरोना टीकाकरण का कोर्स पूरा करें। सीएमएचओ डा. अनिल श्रीवास्तव तीन सप्ताह से जिले में कोरोना शून्य पर चल रहा है। जिला कोरोना मुक्त हो चुका है। हालाकि इसको लेकर अभी भी सावधानी बरतने की आवश्यकता है। तभी महामारी को पूरी तरह से खत्म किया जा सकेगा।

Posted By: Manoj Kumar Tiwari

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close