बिलासपुर। SECR News: आइआरसीटीसी की टीम में अब ई- केटरिंग सुविधा के तहत खाना लेकर पहुंचने वाले होटल व रेस्टोरेंट के कर्मचारियों की जांच कर रही है। जांच के दौरान यह देखा जा रहा है कि कर्मचारी आर्डर के मुताबिक ही खाना लेकर आ रहे हैं या अतिरिक्त पैकेट भी पहुंचा देते हैं। नियमानुसार आनलाइन आर्डर के मुताबिक ही खाना परोसना है।

कुछ शिकायतें सामने आने के बाद आइआरसीटीसी खाने को लेकर सख्त हो गई है। कोरबा-अमृतासर छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस में खाना पकाने का मामला हो या फिर मेल में। एक मामला मथुरा के आसपास सामने आया है तो मेल में आइआरसीटीसी ने टीम ने खुद खाना पकाते हुए कर्मचारियों को पकड़ा है। इस मामले में राशन सामग्री भी जब्त की गई थी। लगातार खानपान में शिकायत के बाद यह तो स्पष्ट हो गया है कि पेंट्रीकार के कर्मचारी चोरी-छिपे खाना पका रहे है।

यही कारण है कि अब ई-के​टरिंग को लेकर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। कोरोना काल में इसी सुविधा के तहत यात्रियों को खाना व भोजना पहुंचाया गया। यात्रियों से बेहतर रिस्पांस मिलने के कारण ही शहर के कुछ और प्रमुख होटल व रेस्टोरेंट को जोड़ा गया। आइआरसीटीसी ने इस दौरान गोलगप्पे और चाट देने की सुविधा भी आनलाइन व्यवस्था के तहत की है। आनलाइन खाना बुकिंग की बढ़ती संख्या को देखते हुए ही आइआरसीटीसी चाह रहा है कि इसमें किसी तरह की शिकायत नहीं आए।

इसके अलावा आनलाइन आर्डर दिया गया है। वही खाना पहुंचे। अलग से खाना न पहुंचाए। यही नियमों का उल्लंघन है और इस दौरान यात्रियों को खानपान को लेकर शिकायत आती है तो चाहकर भी यात्री शिकायत नहीं कर पाएंगे। इसके अलावा आइआरसीटसी से जो व्यवस्था बनाई है वह भी बिगड़ेगी।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local