बिलासपुर। ट्रेन परिचालन को लेकर यात्रियों को होने वाली परेशानी खत्म होने वाली है। दो ट्रेन 19 मई से पटरी पर आ जाएगी। बची ट्रेनें इस माह के अंत तक चलने लगेंगी। अब दोबारा इन ट्रेनों के रद होने को लेकर रेलवे की तरफ से किसी तरह तैयारी नहीं है। जब रेलवे ने एक साथ नौ ट्रेनों को रद करने की घोषणा की थी, उस समय रेलवे बोर्ड के निर्देश का हवाल दिया गया था। हकीकत यह है कि बिजली संकट को देखते हुए कोयले का परिवहन में तेजी लाने के लिए इन ट्रेनों को रद किया गया। पटरी खाली रहेंगी तो कोयल लोड मालगाड़ियों को बिजली घरों तक पहुंचाने में जरा भी दिक्कत नहीं आएगी। एक साथ इन ट्रेनों के रद होने का खामियाजा यात्रियों को परेशानी के रूप में भुगतना पड़ रहा है।

18236/18235 बिलासपुर-भोपाल एक्सप्रेस , रीवा- बिलासपुर एक्सप्रेस, बिलासपुर- रायगढ़ मेमू पैसेंजर, बिलासपुर- शहडोल मेमू पैसेंजर 24 मई तक रद है। वहीं बिलासपुर- रीवा एक्सप्रेस 23 मई तक नहीं चलेगी। दोनों प्रमुख ट्रेन है और इनका परिचालन बंद होने से कटनी रेलखंड में यात्रियों की परेशानी बढ़ी हुई है। इन ट्रेनों की सुविधा के लिए यात्रियों को कुछ दिन इंतजार करना पड़ेगा।

पर संतरागाछी- नांदेड एक्सप्रेस व रानी कमलापति - संतरागाछी एक्सप्रेस के रद रहने की तिथि 18 मई को समाप्त हो रही है। 19 मई से यह पटरी पर दौड़ने लगेगी। फिलहाल रेलवे की तरफ से इनके रद की तिथि बढ़ाने को लेकर किसी तरह का निर्णय नहीं लिया गया। इसी तरह सांतरागाछी- रानी कमलापति एक्सप्रेस 20 मई से चलने लगेगी। ज्यादातर ट्रेनें कटनी रेल खंड की है। इसलिए इस रेलमार्ग में यात्रियों को महीने की शुरुआत से दिक्कत हो रही है। उनमें नाराजगी भी है। विरोध भी हुआ। पर रेलवे ने किसी की नहीं सुनीं और जब ट्रेनों को रद रखना था, इन्हें नहीं चलाई गई। हालांकि अब दोबारा इन्हें रद नहीं किया जाएगा। जून महीने से यात्रियों को पूरी तरह राहत मिल जाएगी

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close