बिलासपुर। Bilaspur Railway News: दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन के छोटे स्टेशनों में भी बेहतर ढंग से निगरानी हो सकेगी। रेलवे सुरक्षा विभाग (आरपीएफ) ने पोस्ट व आउट पोस्ट का नया सेटअप तैयार किया है। इसके तहत ऐसे आउट पोस्ट और पोस्ट जहां बल सदस्यों की संख्या पहले कम थी वहां बढ़ा दी गई हैं। इसके अलावा जहां अधिक थे वहां कटौती की गई है। एक तरह से सभी जगहों पर बल सदस्यों की संख्या एक सामान की गई है।

जिससे की सुरक्षा की बेहतर व्यवस्था हो सके। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन के अंतर्गत तीन रेल मंडल बिलासपुर, रायपुर व नागपुर आते हैं। आरपीएफ पोस्ट व आउट पोस्ट इन्हीं के अधीन है। ट्रेन या स्टेशनों में अपराध नियंत्रण हो सके। इसलिए आरपीएफ को जोन मुख्यालय में समय- समय पर मंथन होता है। अधिकारियों के बीच के बाद ही ठोस निर्णय लिए जाते हैं। यह बदलाव इसी के तहत हुआ है। अब नए सेटअप के अनुसार निरीक्षक, उप निरीक्षक, सहायक निरीक्षक, आरक्षक यहां ड्यूटी करेंगे।

इसके तहत बिलासपुर आरपीएफ पोस्ट में संख्या 139 कर दी गई है। पहले यहां 179 पदस्थ थे। इसी तरह उसलापुर आउट पोस्ट में 10 से बढ़ाकर 15, पेंड्रारोड में 20 से बढ़ाकर 26 बल सदस्य कर दिए गए हैं। रायगढ़ पोस्ट में संख्या 30 से बढ़ाकर 41 कर दी गई है। इसी तरह रायपुर में पोस्ट में 105 की जगह 100, भिलाई पोस्ट में 29 की जगह 34, दुर्ग में 71 की जगह 63 बल सदस्य पदस्थ रहेंगे। नागपुर में रेल मंडल अंतर्गत आने वाले आउट पोस्ट व पोस्ट में से कुछ में ही बदलाव हुआ है।

बने तीन नए आउट पोस्ट

जोन में तीन नए आरपीएफ पोस्ट (चौकी) सृजन किए गए हैं। इसमें सबसे पहला झारसुगुड़ा आउट पोस्ट है। यह ब्रजराजनगर स्थित आरपीएफ पोस्ट के अधीन रहेगा। इसी तरह नागपुर में सौंसर और सावनेर का सृजन किया गया है। जहां पदस्थ बल सदस्य क्रमश: छिंदवाड़ा आरपीएफ पोस्ट और मोतीबाग सेटलमेंट के अधीन रहते कर्तव्यों का निर्वहन करेंगे।

Posted By: sandeep.yadav

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags