बिलासपुर । शासकीय निरंजन केशरवानी कालेज में राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर प्राचार्य प्रो. बीएल काशी ने युवाओं की लोकतंत्र में भागीदारी सुनिश्चित करने की बात कही। उन्होंने कहा लोकतंत्र में मतदान महत्वपूर्ण अधिकार है। उन्होंने विवेकपूर्ण मत प्रयोग करने की शपथ दिलाई।

उन्होंने कहा कि इस बार राष्ट्रीय मतदाता दिवस निर्वाचन को समावेशी, सुगम और सहभागी बनाने की मूल भावना को लेकर मनाया जा रहा है। लोकतांत्रिक प्रक्रिया में मतदाताओं को प्रोत्साहित करने एवं उनमें जागरूकता बढ़ाने के लिए भारत निर्वाचन आयोग द्वारा उठाए गए विभिन्न् प्रयासों के बीच राष्ट्रीय मतदाता दिवस एक महत्वपूर्ण कदम है। एक जागरूक मतदाता ही राष्ट्र के विकास में अहम योगदान दे सकता है। उन्होंने मतदाताओं से किसी भी प्रकार के प्रलोभन में नहीं आते हुए निष्पक्ष और निर्भीक तरीके से मतदान करने की अपील की। राजनीति शास्त्र विभाग की प्राध्यापक डा. प्रमिला देवी मिरी ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के 61 वें स्थापना दिवस 25 जनवरी 2011 से राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाए जाने की शुरूआत हुई। निर्वाचन आयोग का उद्देश्य था कि देशभर के सभी मतदान केंद्र वाले क्षेत्रों में प्रत्येक वर्ष उन सभी पात्र मतदाताओं की पहचान की जाएगी।

पीओ प्रो. शितेष जैन ने बताया कि राष्ट्र के विकास में आम मतदाताओं की भूमिका अहम है जनता ही लोकतंत्र की बुनियाद है। जनता अपने चुने हुए प्रतिनिधियों के माध्यम से सरकार को चुनती है और नीति निर्माण में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करती है। इस अवसर पर कालेज के प्राध्यापक, कर्मचारी, विद्यार्थी एवं स्वयंसेवक उपस्थित रहे।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local