बिलासपुर। गोल बाजार में वन-वे व्यवस्था को लेकर व्यापारी संघ, जिला प्रशासन व जनप्रतिनिधियों की बैठक हुई। इसमें व्यापारियों ने कहा कि मार्ग के वन वे होने के कारण कारोबार 70 प्रतिशत घट गया है। इसके बाद सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुए एक फरवरी से वन-वे हटाने का निर्णय लिया गया। व्यापारियों ने भी दुकान के बाहर सामान न रखने पर सहमति दी।

मंथन सभाकक्ष में कलेक्टर डा. सारांश मित्तर की अध्यक्षता में हुई बैठक में जनप्रतिनिधियों ने व्यापारियों की समस्या को सामने रखा। चर्चा के बाद सहमति बनी की एक फरवरी से मानसरोवर चौक और सिम्स चौक के पास लगाए गए बेरीकेड खोल दिए जाएंगे। गोल बाजार से वन-वे हटा दिया जाएगा। इसमें कलेक्टर सारांश मित्तर ने व्यापारियों से कहा कि दुकान के सामने सीढ़ी के बाहर सामना न निकालें। साथ ही दुकान के कर्मचारी किसी व्यवस्थित जगह अपने वाहन खड़े करें।

इस पर सभी दुकानदारों ने हामी भरी। बैठक में एसपी पास्र्ल माथूर, महापौर रामशरण यादव, छत्तीसगढ़ पर्यटन मंडल अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष प्रमोद नायक, जिला पंचायत अध्यक्ष अस्र्ण चौहान, नगर निगम आयुक्त अजय त्रिपाठी, एसडीएम पुलक भटाचार्य, एडिशनल एसपी उमेश कश्यप, महेश दुबे, अभय नारायण राय सहित अन्य जनप्रतिनिधि और व्यापारी उपस्थित रहे।

व्यापारी गार्ड लगाकर वाहनों को करें व्यवस्थित: महापौर

बैठक में महापौर रामशरण यादव ने व्यापारियों को सुझाव दिया कि गोल बाजार में जाम की स्थिति निर्मित न हो, इसलिए व्यापारी संघ कुछ गार्ड रख लेे। वे दुकानों के बाहर खड़े होने वाले वाहनों को व्यवस्थित करेंगे। इससे मार्ग में जान कि स्थिति काफी हद तक कम हो जाएगी। इसके साथ ही व्यापारियों ने मांग की कि गोल बाजार के सुलभ शौचालय को सुधरवाया जाए। महापौर ने मौके से ही निगम के अधिकारियों को कहकर सुलभ सुधारने का काम शुरू करा दिया।

एक दिन पहले व्यापारियों से की थी चर्चा

गुस्र्वार की रात को महापौर रामशरण यादव, पर्यटन मंडल अध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष प्रमोद नायक और जिला पंचायत अध्यक्ष अस्र्ण चौहान ने गोल बाजार में जानकार व्यपारियों से चर्चा की थी। इस दौरान ट्रैफिक व्यवस्था को लेकर चर्चा की गई। इसमें जनप्रतिनिधियों ने दुकानदारों से साफ किया कि सड़क पर सामान रखने से यातायात व्यवस्था बिगड़ती है। इससे सभी को परेशानी होती हैं। ऐसे में दुकानदारों ने बाहर सामान न रखने का भरोसा दिलाया था।

देवकीनंदन चौक से लेकर सिटी कोतवाली चौक तक सुबह से ही यातायात का दबाव बना रहता है। इस समस्या का हल निकाला गया है। वन वे हटाकर दुकानदारों को राहत दी गई है। अब वे दुकान के बाहर सामान नहीं रखेंगे। इससे यातायात को सुगम बनाया जा सकेगा।

डा. सारांश मित्तर, कलेक्टर

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local