बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

प्लेटफार्म के चबूतरे में गहने व नकद से भरे बैग को एक बदमाश उठाया और पटरी में कूदकर रफूचक्कर हो गया। महिला जब उसे भागते देखकर शोर मचाया तब तक आरोपित फरार हो चुका था। उन्होंने मामले की शिकायत जीआरपी थाने में की है। पूरी घटना कैमरे में कैद हो चुकी है। आरोपित का चेहरा स्पष्ट नजर आ रहा है। बैग में गहने व नकद मिलाकर 70 हजार रुपये के सामान थे।

घटना बुधवार दोपहर 12 बजे से पहले की है। सिरगिट्टी वार्ड क्रमांक 12 निवासी देवजनी कौशिक पति राजेश कौशिक बड़ी मां को देखने रायपुर जाने के लिए रेलवे स्टेशन पहुंचीं। उनके साथ परिवार की अन्य महिलाएं व बच्चे भी थे। यहां आकर पता चला कि रायपुर जाने के लिए हावड़ा- अहमदाबाद एक्सप्रेस पहुंचने वाली है। वह प्लेटफार्म पांच पर आएगी। इस जानकारी के बाद सभी प्लेटफार्म पर चली गईं। ट्रेन के इंतजार में वह चबूतरे में बैठी थीं। प्रार्थी खड़ी हुई थी और अपना पर्स चबूतरे में रखी थी। इसी बीच हाप पेंट पहना एक लड़का आया और पर्स को उठाकर पटरी पर छलांग लगा दी। हाथ में पर्स लेकर जाते देखकर यात्रियों ने शोर मचाया। यात्री ने पलटकर देखा तो बैग गायब था। वह भी आवाज लगाने लगी। इससे पहले की कोई पकड़ने की कोशिश करता वह भाग चुका था। घटना के बाद महिलाएं जीआरपी थाने पहुंची। इस बीच थाना प्रभारी एएन खटकर ने दो पुलिसकर्मियों को लड़के की तलाश करने भेजा। वहीं लिखित शिकायत लेकर एफआइआर दर्ज की गई। यात्री के मुताबिक पर्स के अंदर सोने की चेन, दस लाकेट का माला व 12 हजार रुपये के अलावा एक मोबाइल भी था। महिला यात्री थाने में रोने लगी।

प्लेटफार्म में आरपीएफ न जीआरपी

जोनल स्टेशन में प्लेटफार्म चार- पांच सबसे संवेदनशील है। पहले भी यहां आपराधिक घटनाएं हो चुकी है। दरअसल यह दोनों प्लेटफार्म अंतिम में हैं। जबकि आरपीएफ, जीआरपी थाने से लेकर रेलवे का सारा कार्यालय प्लेटफार्म एक पर है। इस लिहाज से इन दोनों प्लेटफार्म में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने की आवश्यकता है। लेकिन हकीकत यह है कि यहां आरपीएफ व जीआरपी दोनों के स्टाफ तैनात नहीं थे।

सीसीटीवी मानिटरिंग कक्ष में निगरानी नहीं

इस घटना के बाद आरपीएफ वह दावे भी खोखले साबित हो रहे हैं, जिसमें यह कहा जाता है कि स्टेशन में लगाए 85 कैमरों की मानिटरिंग के लिए जो कक्ष बनाए गए हैं उसमें एक स्टाफ 24 घंटे गतिविधियों पर नजर रखता है। फुटेज देखने से कही नहीं लगता कि इस तरह की मानिटरिंग होती है। क्योंकि आरोपित चबूतरे के ठीक किनारे खड़े होकर करीब पांस मिनट तक मौका देखता रहा। वह खड़े होकर इधर- उधर कर रहा।

प्लेटफार्म पांच से एक लड़का महिला यात्री का पर्स लेकर भागा है। पूरी घटना कैमरे में कैद है। आरोपित का चेहरा भी साफ है। उसे पकड़ने के लिए अमले की ड्यूटी लगा दी गई है।

एएन खटकर

थाना प्रभारी, जीआरपी बिलासपुर