बिलासपुर।Bilaspur News: कोरोना संक्रमण के कारण मंगलवार से दिल्ली- बिलासपुर राजधानी स्पेशल ट्रेन का परिचालन भी बंद हो गया है। इससे यात्रियों का आवाजाही के साथ एसएलआर से पहुंचने वाला पार्सल भी नहीं आ रहा है। ट्रेन नहीं चलने से रेलवे को चार टन पार्सल की बुकिंग प्राप्त होने वाले राजस्व का भी नुकसान हुआ है। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के कारण एक बार रेलवे को ट्रेनों का परिचालन बंद करना पड़ रहा है। हालांकि इसकी एक बड़ी वजह यात्रियों की संख्या घटना है।

संक्रमण से बचने के लिए यात्री ट्रेन से यात्रा करने के लिए कतरा रहे हैं। बिना यात्री के ट्रेन चलाना रेलवे ने लिए नुकसानदायक है। इसे देखते हुए रेलवे बोर्ड ने पहले चरण में लोकल ट्रेनों को बंद करने का आदेश दिया। इसके 11 मई यानी मंगलवार को दिल्ली से राजधानी स्पेशल ट्रेन रवाना नहीं हुई। इसके कारण अब बिलासपुर से भी ट्रेन नहीं छूट रही है।

राजधानी को भी आगामी आदेश तक रद कर दिया गया है। इसका परिचालन बंद होने का असर यात्रियों के साथ व्यापारियों पर पड़ा है। अब व्यापारी पार्सल लाने के लिए दूसरी ट्रेन का विकल्प ढूंढ रहे हैं। जानकारी के अनुसार इस ट्रेन में बिलासपुर चार टन सामान आता है। सुरक्षित पार्सल परिवहन के लिए रेलवे ने एसएलआर भी जोड़ा था।

एक एसएलआर का तीन हजार

रेल अफसरों से मिली जानकारी के अनुसार एसएलआर को रेलवे ने निजी व्यक्ति को लीज पर देकर रखा हुआ है। एसएलआर में सामानों की लोडिंग अनलोडिंग व सारे कार्य लीज होल्डर ही करता है। ट्रेन बंद होने से चार टन का नुकसान तो होगा, लेकिन ज्यादा भार लीज होल्डरों पर पड़ेगा, क्योंकि लीज होल्डर एक फेरे का रेलवे को केवल ढ़ाई से तीन हजार रुपए ही देते थे।

Posted By: sandeep.yadav

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags