बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। हावड़ा-पुणे आजाद हिंद एक्सप्रेस में यात्रा के दौरान गोंदिया के एक यात्री की मौत हो गई। बीच रास्ते में अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई। जिस पर यात्रियों ने टीटीई को सूचना दी। टीटीई ने बिलासपुर रेलवे को कंट्रोल को जानकारी दी। यहां स्टेशन में चिकित्सकों ने जांच के बाद मौत होने की पुष्टि की। इस पर जीआरपी ने शव उतारा। स्वजनों को भी घटना की खबर दे दी गई है। वे गोंदिया से रवाना हो गए।

घटना सोमवार की है। आजाद हिंद एक्सप्रेस के बी-6 कोच की बर्थ क्रमांक 32 पर गोंदिया के सूर्या टोला शक्तिमाला मंदिर निवासी दत्तात्रे कावले (47) हावड़ा से रायपुर तक सफर कर रहे थे। वे रायपुर के किसी निजी कंपनी में काम करते हैं। कंपनी के काम से ही वे मणिपुर गए थे। वहां से फ्लाइट में हावड़ा पहुंचे और वहां से रायपुर तक सफर कर रहे थे। रास्ते में उनकी तबीयत बिगड़ गई है।

जीआरपी के अनुसार वे दमा के मरीज है। तबीयत बिगड़ने पर यात्री ने अन्य यात्रियों को जानकारी दी और चिकित्सकों को बुलाने के लिए कहा। इस सहयात्री घबरा गए। वह तत्काल टीटीई को बुलाए। यात्री की हालत देखकर टीटीई ने तत्काल कंट्रोल को जानकारी दी और बिलासपुर में चिकित्सक भेजने के लिए कहा।

सूचना मिलते के बाद रेलवे के चिकित्सक जोनल स्टेशन पहुंचकर ट्रेन आने का इंतजार करने लगे। सुबह 11 बजे जैसे ही ट्रेन पहुंची चिकित्सक कोच में गए। जांच की, लेकिन तब तक यात्री की मौत हो चुकी थी। स्टेशन मास्टर से मेमो मिलने के बाद जीआरपी पहुंची और शव को नीचे उतारा गया।

मृतक के पास कंपनी का नाम व कुछ स्टाफ का नंबर मिला। जिसके आधार पर कंपनी के अधिकारी से बातचीत की। इसके अलावा स्वजनों को भी बताया गया। स्वजनों के पहुंचने के बाद शव का पोस्टमार्टम होगा। इसके बाद अंतिम संस्कार के लिए उन्हें शव दे दिया जाएगा।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local