बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

रेलवे यात्रियों की सोमवार से परेशानी बढ़ने वाली है। रायपुर रेल मंडल के हथबंद स्टेशन में बिलासपुर-रायपुर लाइन में आवश्यक कार्य के लिए सारनाथ एक्सप्रेस, बरौनी एक्सप्रेस व अंबिकापुर एक्सप्रेस को बिलासपुर व उसलापुर में टर्मिनेट कर दिया जाएगा। इन ट्रेनों में रायपुर, दुर्ग या राजनांदगांव व गोंदिया से रिजर्वेशन कराने वाले यात्री अमरकंटक एक्सप्रेस से उसलापुर स्टेशन तक जा सकते हैं। रेलवे ने 24 अक्टूबर तक अमरकंटक एक्सप्रेस का अस्थाई ठहराव देने का निर्णय लिया है।

रविवार को परेशानी का पहला दिन था। हालांकि पहले दिन केवल राजेंद्रनगर- दुर्ग साउथ बिहार एक्सप्रेस के यात्रियों को दिक्कत हुई। यह ट्रेन बिलासपुर में आकर समाप्त हो गई। इस ट्रेन के यात्रियों द्वारा हंगामा करने की आशंका थी। यही वजह है कि ट्रेन के पहुंचने से पहले आरपीएफ व स्टेशन के कुछ जिम्मेदार अधिकारी प्लेटफार्म पर मौजूद थे। इसके अलावा इंक्वायरी से भी एलाउंसमेंट किया गया कि यह ट्रेन आगे नहीं जाएगी। यात्री चाहे तो कोरबा-विशाखापत्तनम से रायपुर या दुर्ग तक जा सकते हैं। ट्रेन से उतरने के बाद वैकल्पिक व्यवस्था मिल गई। इसलिए यात्रियों में नाराजगी नजर नहीं आई। लेकिन 14 अक्टूबर से हंगामें के साथ आक्रोश का सामना करना पड़ सकता है। दरअसल 15231 बरौनी-गोंदिया एक्सप्रेस, 15159 छपरा-दुर्ग सारनाथ एक्सप्रेस व अंबिकापुर-दुर्ग एक्सप्रेस कम पैसेंजर बिलासपुर व उसलापुर में आकर समाप्त हो जाएंगी। दूसरे दिन यहीं से लौटेंगी। इस स्थिति में जिनका बिलासपुर या उसलापुर से रिजर्वेशन है, उन्हें परेशानी नहीं होगी। लेकिन जिन्होंने रायपुर या दुर्ग व इसके आगे के स्टेशनों में रिजर्वेशन कराया है उन्हें यात्रा शुरू करने के लिए यहां तक आना पड़ेगा। ये ट्रेनें रात में हैं। रेलवे उनकी इस दिक्कतों को समझा। यही वजह है कि रविवार को यह घोषणा की गई कि दुर्ग-भोपाल अकरकंटक एक्सप्रेस उसलापुर में दो मिनट ठहरेगी। इससे वह यात्री इस ट्रेन से बिलासपुर व उसलापुर रेलवे स्टेशन तक पहुंच सकते हैं। उन्हें परेशानी नहीं होगी। हालांकि 17481 बिलासपुर-तिरुपति एक्सप्रेस व 22939 हापा-बिलासपुर एक्सप्रेस के यात्रियों तकलीफों का सामना करना ही पड़ेगा। इसकी जगह पर वैकल्पिक ट्रेन की व्यवस्था नहीं है।

आज ये ट्रेनें रहेंगी रद

0 68746 रायपुर गेवरारोड मेमू

0 68745 गेवरारोड-रायपुर मेमू,

0 58204 रायपुर-गेवरारोड पैसेंजर

0 58203 गेवरारोड-रायपुर पैसेंजर

0 12856 इतवारी-बिलासपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस

0 12855 बिलासपुर-इतवारी इंटरसिटी एक्सप्रेस

जोनल स्टेशन में हेल्प डेस्क की सुविधा

यात्रियों की सुविधा और उन्हें उचित जानकारी देने के लिए रेलवे ने जोनल स्टेशन में हेल्प डेस्क की सुविधा मुहैया कराई है। रविवार से इसकी शुरुआत की गई। इसमें टीटीई व अन्य रेल कर्मियों की ड्यूटी लगाई जा रही है। जिनका काम केवल यात्रियों को यह बताना है कि कौन सी ट्रेन रद है और कौन आधे रास्ते में समाप्त होंगी। इस स्थिति में गंतव्य तक पहुंचने के लिए यात्री क्या करें, इसकी जानकारी देनी है।

जीएम ने कहा था- ट्रेनों को रद न करें

एक साथ इतनी संख्या में ट्रेनों को रद करने व परिचालन आधे रास्ते में समाप्त करने से यात्रियों में काफी नाराजगी है। कुछ यात्री इस बात का हवाला देते नजर आए कि पिछले दिनों जीएम ने एक बैठक के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिए थे कि ब्लाक के दौरान ट्रेनें प्रभावित न हों, इस बात का खास ख्याला रखा जाए। स्थिति इसके विपरीत है। अधिकारियों ने थोक में ट्रेनों को रद किया है। जबकि वैकल्पिक व्यवस्था करते हुए कुछ ट्रेनों को गंतव्य तक चलाना चाहिए था। केवल सीमित ट्रेनें रद करनी थी। बिना होमवर्क किए रेल प्रशासन ने जबरिया यात्रियों के ऊपर अव्यवस्था थोपी है।

Posted By: Nai Dunia News Network