बिलासपुर। जोनल स्टेशन से सफर कर रहे हैं और यदि आपकी ट्रेन प्लेटफार्म चार या पांच में आने वाली है तो जरा संभलकर चलिएगा। जरा सी हड़बड़ी से चोट लग सकती है। दोनों ही प्लेटफार्म के काफी बड़ा हिस्सा ऊपर- नीचे हैं। पत्थर व टाइल्स लगाने का काम अधूरा छोड़ दिया गया है। जिस हिस्से में नए पत्थर लगाए गए हैं वहां ऊंचा है। जबकि किनारे लगी चेकर टाइल्स पुरानी होने के कारण नीचे हैं।

इन्हें बदलकर पत्थर के बराबर लाना है। जोनल मुख्यालय स्टेशन में इतनी बड़ी अव्यवस्था होने के बाद भी रेलवे के किसी भी अफसर की नजर इस पर नहीं पड़ी। इसका खामियाजा किसी दिन भी यात्रियों को भुगतना पड़ सकता है।

दोनों ही प्लेटफार्म की यह खामियां नागपुर इंड में हैं। दरअसल यहां लगे कुछ पत्थर व टाइल्स जर्जर हो चुकी थी। इन्हें बदलने के बजाय इंजीनियरिंग विभाग ने पूरे प्लेटफार्म की टाइल्स व पत्थर बदलने की योजना बना डाली। इसके लिए बकायदा टेंडर भी हुआ। काम काफी दिनों तक चला भी।

पर एकाएक काम पूरा होने से पहले ही बंद हो गया। रेल प्रशासन इसकी वजह भी नहीं बता पा रहा है और ना ही इस अव्यवस्था को ठीक करने के लिए ठोस कदम उठा रहा है। प्लेटफार्म ऊपर- नीचे हैं और स्थिति में यात्री रोज हड़बड़ी में ट्रेन में चढ़ रहे हैं। इस दौरान गिरते भी है। कुछ यात्रियों के पैरों में चोट भी आई है। हालांकि किसी तरह हादसा नहीं हुआ है पर इससे इंकार भी नहीं किया जा सकता, क्योंकि ट्रेन में चढ़ने की हड़बड़ी में यात्री नीचे नहीं देखते। बताया जा रहा है कि संबंधित विभाग को कई बार इसकी शिकायत की जा चुकी है, लेकिन वे इस अव्यवस्था को सुधारने के लिए जरा भी गंभीर नहीं है।

Posted By: sandeep.yadav

NaiDunia Local
NaiDunia Local