बिलासपुर। Bilaspur Railway News: जोनल स्टेशन में यात्रियों को रिटायरिंग रूम की सुविधा नहीं मिलने से परेशानी हो रही है। प्रतिदिन इंक्वायरी या फिर भी रेलवे स्टाफ से इसकी जानकारी पूछते हैं। पर जब उन्हें इसके बंद होने की बात कहते हैं तो वह मायूस हो जाते हैं। यात्रियों की इस परेशानी को देखने के बाद भी आइआरसीटीसी संचालक पर दबाव बनाने में असफल है। खुलने से पहले ही कम बुकिंग की बात कही जा रही है।

रेलवे स्टेशन में धीरे- धीरे स्थिति सामान्य होने लगी है। स्टाल से लेकर फूड यूनिट भी खुल गए हैं। ट्रेनों का परिचालन भी शुरू हो गया है। इन तमाम सुविधाओं को प्रारंभ होने के बाद भी आइआरसीटीसी द्वारा संचालित रिटायरिंग रूम अब तक बंद है। जबकि लंबी दूरी तय कर जरुरी काम से बिलासपुर पहंुचे यात्रियों को इसकी सबसे ज्यादा आवश्यकता पड़ती है। वह पहंुचने के बाद सीधे इंक्वायरी जाते हैं या फिर स्टेशन मास्टर के पास।

इस दौरान वह यही जानकारी लेते हैं रिटायरिंग कहां और बुकिंग होगी या नहीं। पर जब उन्हें बंद होने की जानकारी मिलती है तो वह परेशान होकर वैकल्पिक व्यवस्था ढूंढने के लिए स्टेशन के बाहर भटकने लगते हैं। रेल प्रशासन से कई बार यात्रियों को हो रही इस परेशानी से अवगत कराकर रिटायरिंग रूम खोलने के लिए कह चुका है। इसके बाद भी आइआरसीटीसी न इस पर ध्यान दे रहा है और न संचालक पर दबाव बना रहा है।

मालूम हो कि बिलासपुर स्टेशन के इस रिटायरिंग रूम को पुणे की एक कंपनी को साल के लिए ठेके पर दिया गया है। पिछले साल ही यह थ्री- स्टार की तर्ज पर तैयार हुआ है। पर कोरोना की वजह से इसे भी बंद करना पड़ गया था।

Posted By: sandeep.yadav

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags