बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। यात्रियों को नौ जुलाई के बाद राहत मिलेगी। दरअसल रेलवे ने दो महीने से रद 34 ट्रेनों को 15 दिनों के लिए और रद कर दिया है। यह तीसरी बार है जब ट्रेनें रद की गई है। पर चौथी बार रद की संभावना कम नजर आ रही है। इसलिए माना जा रहा है कि ट्रेनें पहले की तरह पटरी पर दौड़ने लगेंगी।

इन 34 ट्रेनों को रद किस लिए की गई है। रेलवे ने अब तक स्पष्ट ही नहीं किया है। केवल रेलवे बोर्ड के आदेश का हवाला दिया जाता है। हकीकत यह है कि कोयल परिवहन व मालगाड़ी चलाने के लिए रेलवे ने ऐसा किया है। जिसका खामियाजा यात्रियों को भुगतना पड़ रहा है। बीते छह माह से लगातार यात्री ट्रेनें रद हैं। दरअसल रेलवे यात्रियों को सुविधा देने के बजाय माललदान पर पूरा फोकस कर रही है। 25 जून से नौ जुलाइ तक ट्रेनें अलग- अलग तिथि में रद है।

बिलासपुर -भोपाल एक्सप्रेस, रीवा एक्सप्रेस समेत कई महत्वपूर्ण ट्रेनों के नहीं चलने से यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। सबसे ज्यादा दिक्कत कटनी सेक्शन के यात्रियों को हो रही है। यहां अप व डाउन दिशा को मिलाकर 10 ट्रेनें रद है। स्थिति यह है कि एक ट्रेन छूट जाए तो कई घंटे तक दूसरी ट्रेन नहीं है। पर नौ जुलाई के बाद यात्रियों को राहत मिल जाएगी। इस तिथि के बाद ट्रेनें रद नहीं होंगी। अभी रेलवे में इसी तरह का माहौल है।

इधर राजनांदगांव-रसमड़ा के बीच नान इंटरलाकिंग के चलते दो से सात जुलाई तक रद रहेंगी 18 ट्रेनें रद है। इसके कारण भी यात्रियों को परेशानी हो रही है। लेकिन यह दिक्कत सात जुलाई तक ही रहेगी। अभी स्थिति सामान्य है। इसलिए संभावना कम है कि ब्लाक लेकर ट्रेनों का परिचालन रोका जाए। इसलिए यात्री इस बार मानकर चल रहे हैं कि नौ जुलाई के बाद पहले की तरह मुस्कान के साथ सफर कर सकते हैं।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close