बिलासपुर। कोरोना वायरस के नए खतरनाक वेरिएंट ने चिंता बढ़ा दी है। सरकारी अस्पतालों को अपडेट करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। वहीं बच्चों को लिए भी सावधानी बरतने की हिदायत दी गई है। बिना टीकाकरण के बच्चे इसके आसान शिकार बन सकते हैं। स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड में आ गया है। ओमिक्रोन से संक्रमित मरीजों की संख्या देश में लगातार बढ़ती जा रही है। अगर यह वायरस का यह रूप तेजी से फैला तो यह तीसरी लहर की शुरुआत हो सकती है। टीका नहीं लगने के कारण बच्चों को खतरा अधिक बताया जा रहा है। इसको देखते हुए जिला स्तर पर स्वास्थ्य विभाग ने भी तैयारी शुरू कर दी है।

इसके तहत सिम्स, जिला अस्पताल के साथ अन्य सरकारी अस्पताल को अपडेट करने के निर्देश दे दिए गए हैं। वहीं निजी अस्पतालों को भी कहा गया है कि वे तैयार रहें। सीएमएचओ डाक्टर प्रमोद महाजन ने जानकारी दी है कि इस खतरनाक वेरियंट को विदेश से आने वाले ही ला सकते हैं। ऐसे में विदेश से आने वालों को निगरानी में रखा जा रहा है। वहीं जिन दो संक्रमित का सैंपल जांच के लिए भुवनेश्वर भेजा गया है, उनकी रिपोर्ट आने के बाद ही आगे कोरोना नियंत्रण के काम में जरूरी बदलाव किया जाएगा। वहीं विदेश से आने वाले सभी को होम आइसोलेट किया जा रहा है और उनका सैंपल लिया जा रहा है।

पिछले महीने विदेश से आए लोगों की जुटाई जा रही जानकारी

17 नवंबर से अभी तक 58 लोग विदेश से जिले में पहुंचे हैं। इनमें से दो संक्रमित मिले हैं। उन्हें होम आइसोलेट कर निगरानी में रखा गया है। वहीं 17 नवंबर से पहले वापसी करने वालों की भी जानकारी ली जा रही है। उन्‍हें होम आइसोलेट किया जाएगा। साथ उनको कोरोना जांच भी की जाएगी।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local