बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। गुस्र्वार को जिला पंचायत कार्यालय परिसर स्थित सभाकक्ष में सामान्य सभा में जानकारी देने से आनाकानी करने पर जिला पंचायत अध्यक्ष अरुण सिंह चौहान लोक निर्माण विभाग के संभाग क्रमांक एक और दो के कार्यपालन अभियंता पर भड़क गए। साथ ही पेंड्रा ईई पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। चौहान ने कहा कि अधिकारी अपने आप को सिस्टम से बड़ा न समझें। उन्होंने सीएम से निलंबन की मांग करने की बात कही है।

जिला पंचायत सामान्य सभा की हंगामेदार बैठक में 20 महत्वपूर्ण एजेंडा पर चर्चा हुई। सड़क, पानी, बिजली, मनरेगा, स्वास्थ्य, किसान समेत शासन की जनहित योजनाओं गंभीर चर्चा हुई। जनप्रतिनिधियों ने पिछली सामान्य सभा में दिए गए निर्देशों को लेकर अधिकारियों से जवाब मांगा। साथ ही कुछ निर्देशों के पालन नहीं होने पर नाराजगी को भी जाहिर की। बैठक में हमेशा की तरह बिलासपुर लोक निर्माण विभाग से सटीक जानकारी मिलने पर जनप्रतिनिधियों ने आक्रोश जाहिर किया।

इस दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष अरुण चौहान ने बिलासपुर और पेंड्रा ईई पर अपनी नाराजगी को जाहिर किया। अरुण चौहान ने कहा कि बर्दास्त की कोई सीमा होती है। अभी तक एक भी बार बिलासपुर लोक निर्माण विभाग डिविजन एक और दो के अधिकारी बुलाए जाने के बाद भी बैठक में उपस्थित नहीं हुए। जबकि कई बार अनुपस्थिति को लेकर नाराजगी भी जाहिर की जा चुकी है। अरुण चौहान ने कहा कि बीएल कापसे और अरविंद चौरसिया के खिलाफ कठोर अनुशासनात्मक कार्रवाई जरूरी है।

दोनो के खिलाफ निंदा प्रस्ताव लाया जाएगा। दोनों अधिकारियों को यदि जनहित की बैठक में शामिल होने में शर्म महसूस होती है तो दोनो अपना स्थानांतरण करवा लें। इस दौरान अरुण चौहान ने नाराजगी जाहिर करते हुए पेंड्रा पीडब्ल्यूडी अधिकारी के खिलाफ भी कठोर कार्रवाई करने को कहा। चौहान ने कहा कि तीनो अधिकारियों के खिलाफ मुख्यमंत्री, विभागीय मंत्री, मुख्य सचिव,सीईओ,और कलेक्टर को भी शिकायत पत्र देने को कहा।

यूथ कांग्रेस चुनाव में फर्जी मेंबरशिप का उठा मुद्दा

सभापति अंकित गौराहा ने यूथ कांग्रेस चुनाव में स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों व महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं पर दबाव डालकर सदस्य बनवाने और फर्जी तरीके से वोट डलवाने का आरोप लगाया। जितेंद्र पांडेय ने बिल्हा बीईओ पर मातृत्व अवकाश बेचने का आरोप लगाया। भाजपा की जिला पंचायत सदस्य चांदनी भारद्वाज ने ग्रामीण क्षेत्र के स्कूलों में शिक्षकों की कमी का मुद्दा उठाया। उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि सड़क किनारे के गांव में जहां आवागमन की सुविधा है वहां सेटअप से अधिक शिक्षकों की पदस्थापना कर दी गई है। दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्र की स्कूलों में शिक्षक ही नहीं है।

खाद बीज का उठा मुद्दा

जिला पंचायत सदस्य भारद्वाज ने कहा कि वर्षा शुरू होने के साथ ही खेती किसानी का काम प्रारंभ हो गया है। किसानों ने बीज की व्यवस्था तो कर ली है खाद के लिए भटकना पड़ रहा है। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक की समितियों में खाद भंडारण की स्थिति के बारे मेें में जानकारी मांगी व समय रहते किसानों को खाद वितरण की मांग भी की। ग्राम पंचायत लिमतरा में स्कूल परिसर से लगी हुई राशन दुकान है। राशन कार्डधारी वर्षा के दिनों में सीधे स्कूल में पहुंच जाते हैं। इससे बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होती है।

कृषक मित्रों को दो साल से नहीं मिला है मानदेय

सामान्य सभा की बैठक में कृषक मित्रों का मुद्दा भी उठा। जिला पंचायत सदस्य चांदनी भारद्वाज ने दो वर्षों से कृषक मित्रों को मानदेय न मिलने की शिकायत की। उन्होंने कृषि विभाग के अधिकारियों पर कृषक मित्रों को मानदेय का भुगतान करने में लापरवाही बरतने का आरोप भी लगाया।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close