बिलासपुर। सभी सरकारी स्कूल 16 जून से खुल गए हैं। कोरोना संक्रमण के दो साल बाद स्कूलों में रौनक लौटी है। निजी स्कूलें 20 से खुलेंगे। स्कूल प्रबंधन द्वारा बच्चों व पालकों के लिए बनाए गए वाट्सएप ग्रुप के जरिए दो दिन पहले से सूचना देने का काम का रहे हैं। इसके अलावा स्कूल परिसर में सूचना भी चस्पा कर दी गई है।

बुधवार को रात में हुई तेज बारिश के कारण मौसम में जरूरी बदलाव आ गया है। भीषण गर्मी से अब शहरवासियों को मुक्ति भी मिलने लगी है। गर्मी के मौसम को देखते हुए निजी स्कूल प्रबंधन ने 16 के बजाय 20 जून से स्कूल खोलने का निर्णय तीन दिन पहले ही ले लिया था। अब जबकि मौसम में बदलाव होने लगा है स्कूली बच्चों को भी गर्मी से राहत मिलेगी। सरकारी स्कूल खुल गए हैं। प्रवेशोत्सव भी मनाया जा रहा है। एक पाली में लगने वाले स्कूल सुबह 10 बजे से खुलेंगे।

दो पालियों में लगने वाले स्कूलों का समय प्रबंधन बच्चों की सुविधानुसार तय करेंगे। सरकारी स्कूलों में स्कूल खुलने के साथ ही प्रवेशोत्सव की धूम रही। सभी स्कूलों में बच्चा का शिक्षकों ने तिलक लगाकर स्वागत किया। दो साल स्कूल बच्चों का उत्साह भी देखते बन रहा था। एक दूसरे से गर्मजोशी के साथ मिल रहे थे। शाला प्रवेशोत्सव का माहौल अभी स्कूलों में जारी रहेगा। जुलाई के पहले पखवाड़े तक यह उत्सव चलेगा। सरकारी स्कूल के शिक्षकों की कोशिश रहेगी कि पढ़ाई करने के लिए अधिक से अधिक बच्चे स्कूल पहुंंचें। दो साले के हाजिरी रजिस्टर भी खंगाल रहे हैं। छोटे से लेकर बड़े बच्चों के पालकों से संपर्क भी कर रहे हैं।

गांव में पंचायतों के माध्यम से अभियान

गांव में ग्राम पंचायत के जरिए बच्चों को स्कूल भेजने का अभियान चल रहा है। सरपंच व पंचायत सचिव के अलावा पंचों को अपने वार्ड के पालकों से संपर्क करने और बच्चों को स्कूल भेजने प्रेरित करने की जिम्मेदारी दी गई है। गांव में कोटवार के जरिए मुनादी भी कराई जा रही है। स्कूल खुलने की सूचना देने के साथ ही कोटवार पालकों से बच्चों को स्कूल भेजने की मुनादी कर रहे हैं।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close