बिलासपुर। Bilaspur News : चकरभाठा एयरपोर्ट से हवाई सेवा शुरू करने की मांग को लेकर छत्तीसगढ़ हाई कोर्ट में दायर जनहित याचिका पर आज चीफ जस्टिस पीआर रामचंद्र में व जस्टिस पीपी साहू के डिवीजन बेंच में सुनवाई होगी। हाई कोर्ट के आदेश के बाद हवाई सेवा शुरू करने राज्य शासन व जिला प्रशासन की प्रक्रिया चल रही है। बिलासपुर में हवाई सुविधा की मांग को लेकर दो जनहित याचिका दायर की गई है।

दोनों मामलों की हाई कोर्ट में एक साथ सुनवाई चल रही है। बीते दिनों सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता वकील संदीप दुबे की ओर से पैरवी करते हुए वकील सुदीप श्रीवास्तव ने युगलपीठ को जानकारी दी थी कि सिविल एविएशन डायरेक्टर सिद्घार्थ कोमल सिंह परदेशी द्वारा फंड जारी न किए जाने के कारण एयरपोर्ट के चारों तरफ बाउंड्रीवाल का कार्य पूर्ण नहीं हो पा रहा है।

इसके अलावा फंड के अभाव में छोटे-छोटे काम पूरे नहीं हो पा रहे थे। इस पर डिवीजन बेंच ने नाराजगी जाहिर की थी। कोर्ट ने सिविल एविएशन डायरेक्टर को नोटिस जारी कर जवाब पेश करने के निर्देश दिए। इस बीच कोर्ट की नाराजगी का असर भी दिखा। एयरपोर्ट के शेष बचे कार्य के लिए एविएशन विभाग ने फंड स्वीकृत कर दिया। वहीं थ्री-सी कैटेगरी के रूप एयरपोर्ट को उन्ननयन करने के लिए कलेक्टर ने सेना को प्रबंधन के लिए दी गई 78.22 एकड़ जमीन को वापस ले लिया है।

सैन्य मुख्यालय ने पेश किया जवाब

सैन्य मुख्यालय ने हाई कोर्ट में पेश जवाब में कहा है कि राज्य शासन की ओर से अब तक एयरपोर्ट विस्तार के लिए जमीन वापसी के संबंध में आधिकारिक रूप से कोई पत्र नहीं मिला है। शासन से पत्र मिलने के बाद जमीन वापसी के संबंध में आवश्यक कार्यवाही करने का आश्वासन मुख्यालय ने हाई कोर्ट को दिया है।

Posted By: Shashank.bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस