Rail News in Bilaspur: बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)। ट्रेन में छूटी दवा आरपीएफ ने सुरक्षित जिस यात्री का था, उन्हें लौटाई है। यात्री बिलासपुर उतरते समय हड़बड़ी में एक कार्टून दवा भूल गए थे। कार्टून के ऊपर मोबाइल नंबर लिखा था। जिसके आधार पर यात्री का सूचना दी गई। छूटी दवा को वापस पाकर यात्री की खुशी का ठिकाना नहीं था। मामला 08228 एर्नाकुलम - बिलासपुर एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन की है। यह प्लेटफार्म नंबर आठ पर समय 21.45 बजे पहुंची। सुरक्षा के मद्देनजर आरपीएफ सभी ट्रेनों में जांच करती है। इसी के तहत सहायक उप निरीक्षक एसआर जागड़े एवं आरक्षक अविनाश कुमार इस ट्रेन के प्रत्येक कोच की जांच कर रहे थे। इसी बीच उनकी नजर ए -1 कोच की बर्थ नंबर नौ पर लावारिस पड़े कार्टून पर गई।

उन्हें उठाकर आरपीएफ की टीम पोस्ट पहुंची। यहां सबसे पहले जांच की गई की कहीं कोई विस्फोटक सामान तो नहीं है। यह प्रक्रिया लावारिस सामान मिलने पर अपनाई ही जाती है। बाद में कार्टून को खोलकर देखा गया तो उसके अंदर दवाईयां रखी हुई थी। उन्हें माजरा समझ आ गया कि कोई यात्री जल्दबाजी में इसे भूल गया। लिहाजा ऐसी स्थिति में कार्टून को जिस यात्री का उस तक पहुंचाने का प्रयास शुरू हुआ। कार्टून के ऊपर एक मोबाइल नंबर लिखा था।

जिस पर संपर्क करने पर पता चला की तमिलनाडू कुप्नंडम, कराटोर,अथनाईवली, भावनी जिला कुप्नंडमप्लायम, इरोड निवासी राजेश पिता राजेंद्रन का है। यात्री इडोडी रेलवे स्टेशन से बिलासपुर स्टेशन तक यात्रा कर पहुंचे हैं। यात्रियों को दवा आरपीएफ पोस्ट में होने की सूचना मिली। जिस पर शनिवार को यात्री का दोस्त रिकूं सिंह पोस्ट पहुंचकर जानकारी दी। पूरी जानकारी लेने के बाद जब इस बात की पुष्टि हो गई कि यह कार्टून उन्हीं का उनके सुपुर्द कर दिया गया।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local